Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सम्मान के लिए लड़की के पिता ने प्रेमी को उतारा मौत के घाट, इलाके में फैला सांप्रदायिक तनाव

पश्चिमी दिल्ली के ख्याला इलाके में एक 23 वर्षीय फोटोग्राफर की हत्या के बाद तनाव पैदा हो गया है। फोटोग्राफर की हत्या के मामले में पुलिस ने तीन लोगो को गिरफ्तार किया है।

सम्मान के लिए लड़की के पिता ने प्रेमी को उतारा मौत के घाट, इलाके में फैला सांप्रदायिक तनाव

पश्चिमी दिल्ली के ख्याला इलाके में एक 23 वर्षीय फोटोग्राफर की हत्या के बाद तनाव पैदा हो गया है। फोटोग्राफर की हत्या के मामले में पुलिस ने तीन लोगो को गिरफ्तार किया है।

इलाके में बड़ते तानाव को देखते हुए अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। खबरों से मिली जानकारी के मुताबित पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए लोगों में एक किशोर भी शामिल है।

तीन फरवरी को आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया जिनमें दो आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है जबकि एक किशोर आरोपी को बाल सुधार गृह भेजा गया है। आपको बता दें कि एक फरवरी को फोटोग्राफर अंकित सक्‍सेना की चाकू से गला रेतकर हत्‍या कर दी गई थी।

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश: शौच के लिए बाहर गए युवक का प्राइवेट पार्ट काट ले गए हमलावर, होने वाली है शादी

ये है पूरा मामला

पुलिस के मुताबिक यह मामला प्रेम प्रसंग का है। फोटोग्राफर अंकित सक्‍सेना एक मुस्लिम लड़की से रिश्‍ते में था जिसके परिवार को यह बात पसंद नहीं थी। बीते गुरुवार को शाम करीब 8:30 बजे लड़की के परिवारवाले अंकित के घर पहुंचे और उससे अपनी लड़की के बारे में पूछने लगे।

उस बीच अंकित ने थाने चलकर मामला सुलझाने को कहा तो लड़की के पिता और चाचा ने उससे मारपीट शुरू कर दी। लड़की के पिता ने चाकू से उसका गला रेत दिया। इसके बाद अंकित को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें- UP: सीनियर IPS अधिकारी ने ली 'राम मंदिर निर्माण की शपथ', मामला गरमाया- देखें वीडियो

खबरों के मुताबिक स्थानीय लोगों ने एक आरोपियों को पकड़ कर उसी समय पुलिस के हवाले कर दिया। अदालत ने उन्‍हें 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया है। घटना के बाद लड़की ने आशंका जताई कि उसके चाचा के साथी उसकी हत्‍या कर सकते हैं, इसलिए पुलिस ने उसे सुरक्षा मुहैया कराई है।

पुलिस के अनुसार, बेटे को बचाने आई अंकित की मां पर भी लड़की की मां ने हमला किया। वहीं फोटोग्राफर अंकित के पिता यशपाल ने कहा कि जब उसे चाकू मार रहे थे तो बेटे ने मदद की गुहार लगाई, फिर बेहोश हो गया।

लेकिन उसकी अंकित की मां उसके गले पर चुन्‍नी बांधकर खून का बहाव रोकने की कोशिश करते हुए मदद मांग रही थी, लेकिन उधर से गुजर रहे लोग जो तस्‍वीरें लेने के लिए रुके थे, मदद नहीं की।

Next Story
Top