Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

उन्नाव रेप केस : AIIMS में पीड़िता का बयान दर्ज करने के लिए बनेगा अस्थायी कोर्ट, हाईकोर्ट ने दी मंजूरी

उत्तर प्रदेश में चर्चित उन्नाव बलात्कार मामले में पीड़िता का बयान दर्ज कारने के लिए एम्स में अस्थाई कोर्ट स्थापित किया जाएगा।

उन्नाव बलात्कार पीड़िता को एम्स से मिली छुट्टी, अब दिल्ली में रहेंगीUnnao rape victim gets leave from AIIMS, will now stay in Delhi

उत्तर प्रदेश में चर्चित उन्नाव बलात्कार मामले में पीड़िता का बयान दर्ज कारने के लिए एम्स में अस्थाई कोर्ट स्थापित किया जाएगा। रायबरेली के नजदीक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने के बाद बलात्कार पीड़िता का इलाज एम्स में जारी है, उसकी गंभीर स्थिती को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता का बयान दर्ज करने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट से एम्स में अस्थाई कोर्ट बनाने का आदेश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने 45 दिन का दिया समय

सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव मामले को दिल्ली ट्रांसफर करते हुए ट्रायल कोर्ट को 45 दिन में सुनवाई पूरी करने को कहा था। हादसे के बाद एम्म में भर्ती पीड़िता को डॉक्टर्स ने कोर्ट ले जाने को लेकर आपत्ति जताई थी।


ऐसी स्थिति में विशेष जज धर्मेंश ने पीड़िता का बयान दर्ज कराने के लिए हाईकोर्ट को पत्रा लिखा। जिसमें उन्होंने एम्स में अस्थाई कोर्ट बनाने की बात कही। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट के जज दीपक गुप्ता और जज अनिरुद्ध बोस की बेंच ने विशेष जज की राय पर एम्स में अस्थाई कोर्ट बनाने का फैसला सुनाया है। खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक अस्थाई कोर्ट के लिए हाईकोर्ट ने मंजूरी दे दी है।


हादसे के पीछे सेंगर का हाथ

उन्नाव बलात्कार केस की पीड़िता का रायबरेली के नजदीक एक्सीडेंट हो गया था। हादसे के पीछे पीड़िता ने भाजपा से बर्खास्त विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का हाथ होने का आरोप लगाया। पीड़िता ने सीबीआई को दिए गए बयान में बताया था कि सेंगर पिछले कई जान से मारने की धमकी दे रहा था। उसने ही सड़क हादसा कराया है।

Next Story
Share it
Top