Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ट्रेन में हुई वारदात की FIR चलती ट्रेन में ही करा सकेंगे दर्ज

दिल्ली जीआरपी (Delhi GRP) रेलवे यात्रा को और भी अधिक सुरक्षित बनाने के लिए ऐप और वेबसाइट लॉन्च कर रही है। इस ऐप का नाम सहयात्री (Sehyatri App) है। इसके जरिए ट्रेन में चोरी या छीना-झपटी की वारदात की शिकायत चलती ट्रेन में ही दर्ज की जा सकेगी।

ट्रेन में हुई वारदात की एफआईआर कराने के लिए नहीं होगी स्टेशन पर उतरने की जरूरत, चलती ट्रेन में ही दर्ज होगा मामलाThere will be no need to land at the station to get an FIR for the incident in the train, the case will be registered in the moving train itself.

ट्रेन में यात्रा को और भी अधिक सुरक्षित बनाने की दिशा में दिल्ली जीआरपी (Delhi GRP) की तरफ से नए कदम उठाए जा रहे हैं। दिल्ली जीआरपी एक ऐप लॉच करने जा रही है जिसके जरिए ट्रेन में यात्रा के दौरान छीना-झपटी और चोरी के वारदातों के संबंध में तुरंत एफआईआर (FIR) दर्ज कराई जा सकेगी। इसके लिए गुरुवार को दिल्ली जीआरपी 'सहयात्री' (Sehyatri) एप को लॉन्च करेगी।

ऐप के जरिए यात्रियों के लिेए संभव होगा कि वह ट्रेन के अंदर होने वाली किसी भी वारदात की एफआईआर ट्रेन के अंदर बैठे-बैठे की दर्ज करा सकें। इसके साथ ही सहयात्री ऐप के जरिए यात्री रेलवे से संबंधित फीडबैक भी दे सकेंगे। दिल्ली पुलिस सहयात्री ऐप के साथ एक वेबसाइट भी शुरू करने जा रही है। इस वेबसाइट के जरिए भारत के तमाम राज्यों की जीआरपी पुलिस अपने-अपने राज्यों के मोस्ट वांटेड और अन्य अपराधियों से संबंधित जानकारी इस वेबसाइट पर साझा कर सकेंगी। ताकि अलग-अलग राज्यों की जीआरपी कोई भी वारदात के होने पर आपस में सहयोग कर सके।

दिल्ली जीआरपी के डीसीपी दिनेश गुप्ता से मिली जानकारी के अनुसार 10 अक्टूबर को www.railwaysdelhipolice.gov.in वेबसाइट और सहयात्री ऐप को लॉन्च किया जाएगा। इन्हें दिल्ली जीआरपी ने तैयार किया है। उन्होंने बताया कि यह दोनों सुविधाएं केवल रेल यात्रियों के लिए होंगी। यह वेबसाइट पूरे देश की जीआरपी के लिए बनाई गई है। इनके जरिए अपराधियों की जानकारी कहीं भी आसानी से उपलब्ध होने की वजह से अपराधों को रोका जा सकेगा।

Next Story
Share it
Top