Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली समाचार : दिल्ली के क्राइम ग्राफ का आंकड़ा कर देगा आपको सन्न

राजधानी में लोगों की सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने कई नई पहल शुरू की है। जैसे पुलिस सुबह व रात के समय पेट्रोलिंग करना, क्राइम के हॉट स्पॉट की पहचान करना, क्षेत्रीय डीसीपी और एडिशनल डीसीपी के साथ ग्रुप पेट्रोलिंग करना व लगातार इनामी बदमाशों के बारे में जानकारी रखना शामिल है।

दिल्ली समाचार : दिल्ली के क्राइम ग्राफ का आंकड़ा कर देगा आपको सन्न
राजधानी में लोगों की सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने कई नई पहल शुरू की है। जैसे पुलिस सुबह व रात के समय पेट्रोलिंग करना, क्राइम के हॉट स्पॉट की पहचान करना, क्षेत्रीय डीसीपी और एडिशनल डीसीपी के साथ ग्रुप पेट्रोलिंग करना व लगातार इनामी बदमाशों के बारे में जानकारी रखना शामिल है।
पुलिस ने पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष ज्यादा आरोपियों को गिरफ्तार किया हैं। 2017 में दिल्ली पुलिस ने 84 हजार 999 अपराधियों को गिरफ्तार किया हैं, जबकि बीते वर्ष (2018) में 91 हजार 291 अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया हैं। पिछले के मुकाबले इस वर्ष आरोपियों की गिरफ्तारी में 7.40 प्रतिशत का इजाफा हुआ हैं।
इन आरोपियों में सबसे ज्यादा आरोपी स्नैंचर व रॉबर है। इनकी संख्या नौ हजार 187 हैं। वहीं, नशीले पदार्थ की तस्करी करने वाले आरोपी सबसे कम हैं। इनकी संख्या 662 हैं। वहीं पुलिस आकड़ों के अनुसार कुख्यात आरोपियों की गिरफ्तारी में कमी आई है। यह 2017 में तीन हजार 312 था, जबकि 2018 में घटकर यह दो हजार 15 ही रह गई।
पुलिस अधिकारी ने बताया कि वह इलाके में एक्टिव आरोपियों को पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करते हैं। इतना ही नहीं वह जेल से बाहर आए आरोपी व पहले गिरफ्तार हो चुके आरोपियों के बारे में भी पूरी जानकारी रखते हैं। वह सभी आरोपियों के बारे में एक डायरी के साथ-साथ उनके इतिहास का डाटा अपने पास रखते हैं।
जोकि आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए बहुत उपयोगी होता है। गैर मौजूद बीसी के बारे में भी लगातार जानकारी जुटाते रहते हैं और मौका पाते ही उसे दबोच लेते है। वहीं, दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने बताया कि अच्छे व बहादुर काम के लिए पुलिस कर्मियों को प्रमोट व रिवार्ड किया जाता हैं। इनता ही नहीं वह साल में दो बार सभी जिले के डीसीपी के साथ पुलिस मुख्यालय में बैठक करते हैं।
Next Story
Top