Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बुराड़ी कांड: 11 मौतें, 9 स्टूल और खत्म हो गया भाटिया परिवार- तांत्रिक खोलेगी 11 हॉल का राज

बुराड़ी कांड में क्राइम ब्रांच की टीम ने भाटिया परिवार के घर से 9 स्टूल बरामद किए हैं। इनमें 8 बड़े स्टूल हैं और 1 छोटा स्टूल है। यह पूरा मामला धार्मिक अंधविश्वास, तंत्र-मंत्र, मोक्ष से जुड़ा लग रहा है और इस पूरे अनुष्ठान के पीछे परिवार के छोटे बेटे ललित का दिमाग माना जा रहा है।

बुराड़ी कांड: 11 मौतें, 9 स्टूल और खत्म हो गया भाटिया परिवार- तांत्रिक खोलेगी 11 हॉल का राज

देशभर को झकझोर कर रख देने वाले बुराड़ी कांड में क्राइम ब्रांच आखिरकार भाटिया परिवार से जुड़े तांत्रिक तक पहुंचने में सफल हो गई है। यह तांत्रिक एक महिला है और भाटिया परिवार का घर बनाने वाले कॉन्ट्रैक्टर की बहन है। गौरतलब है कि इस सामूहिक आत्महत्या के मुख्य साजिशकर्ता परिवार के छोटे बेटे ललित ने मौत से पहले अपने कॉन्ट्रैक्टर को ही फोन किया था। पुलिस ने बताया कि भाटिया परिवार से इस गीता मां नाम की महिला तांत्रिक के ताल्लुकात रहे थे। इस महिला तांत्रिक का दावा है कि वह भूत-प्रेत भगाती है।

पुलिस अब इस महिला तांत्रिक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस अब महिला तांत्रिक से यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या उसे भाटिया परिवार की आत्महत्या की योजना के बारे में पता था, क्या कभी ललित या परिवार के किसी अन्य सदस्य ने इस तरह का कोई संकेत दिया था। पुलिस यह भी जानने की कोशिश कर रही है कि गीता माता का तंत्र विद्या में कितना दखल है।

इसे भी पढ़ें: बुराड़ी डेथ मिस्ट्री: क्राइम ब्रांच के हाथ लगे दो अहम सबूत, अब सामने आएगी मोक्ष की सच्चाई

सीसीटीवी से मिले नए सबूत

इस बीच 28 तारीख का वो सीसीटीवी हाथ लगा है। 28 जून की शाम करीब 7:35 बजे के आस-पास इस सीसीटीवी फुटेज में ललित की पत्नी टीना, भुप्पी का बेटा ध्रुव घर के नजदीक के सैनी फर्नीचर से 4 भूरे रंग के स्टूल खरीद कर घर ले जाते दिख रहे हैं। सीसीटीवी में साफ दिख रहा है दो स्टूल टीना के हाथ में है और उसके पीछे चल रहे ध्रुव के हाथ में दो स्टूल। इन स्टूलों का इस्तेमाल भी फंदा लगाने में किया गया। बता दें कि इसके पहले एक अन्य सीसीटीवी फुटेज सामने आया था, जिसमे भुप्पी की पत्नी स्वाति और उसकी बेटी नीतू घटना वाली रात 2 स्टूल घर ले जाते दिख रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: बुराड़ी केस: सामने आया मौत से पहले का वीडियो, परिवार के लोग जुटाते दिखे मौत का समान

11 मौतें, 9 स्टूल

क्राइम ब्रांच की टीम ने भाटिया परिवार के घर से 9 स्टूल बरामद किए हैं। इनमें 8 बड़े स्टूल हैं और 1 छोटा स्टूल है। इसके अलावा फंदा लगाने के लिए इस्तेमाल तार भी क्राइम ब्रांच अपने साथ ले गई है। पुलिस के मुताबिक इनमें से 5 स्टूल का इस्तेमाल 9 लोगो ने सामूहिक खुदकुशी के लिए किया था, जबकि एक स्टूल का इस्तेमाल प्रतिभा को करना था।

सीसीटीवी फुटेज के अनुसार 30 जून की रात करीब 10 बजे पहली बार खुदकुशी के लिए स्टूल लाया गया। पुलिस के मुताबिक सीसीटीवी वीडियो में दिख रही दो महिलाओं में से एक सामूहिक खुदकुशी के पीछे मास्टरमाइंड बताए जा रहे ललित भाटिया की पत्नी नीतू है। दोनों महिलाओं के हाथ में 6 स्टूल थे, जिन्हें बाद में खुदकुशी के लिए इस्तेमाल किया गया।

इसे भी पढ़ें: मनोवैज्ञानिक विकार से बुराड़ी में परिवार के 11 सदस्यों ने की होगी खुदकुशीः IHBAS

पूरा परिवार कर रहा था मौत का रिहर्सल

अब तक की जांच में यह पूरा मामला धार्मिक अंधविश्वास, तंत्र-मंत्र, मोक्ष से जुड़ा लग रहा है और इस पूरे अनुष्ठान के पीछे परिवार के छोटे बेटे ललित का दिमाग माना जा रहा है। पुलिस को घर से ललित की लिखी डायरियां और रजिस्टर मिले हैं, जिनमें इन मौतों के अहम राज छिपे हैं। ललित की डायरी से ताजा खुलासा मौत की रिहर्सल से जुड़ा है, जिसके तहत यह पता चला है कि मृतक भाटिया परिवार ने 30 जून की रात से पहले 6 दिन तक फंदे पर लटकने का अभ्यास किया था।

ललित द्वारा 30 जून को लिखी गई डायरी से इस बात का खुलासा हुआ है कि परिवार ने मौत के फंदे पर लटकने से पहले 6 दिनों तक इसकी प्रैक्टिस की। इस दौरान वो इसलिए बच जाते थे क्योंकि प्रैक्टिस के दौरान परिवार के लोगों के हाथ खुले रहते थे। हालांकि डायरी में लिखी बात के अनुसार सातवें दिन यानी 30 जून की रात को सिर्फ ललित और उसकी पत्नी टीना के हाथ खुले थे और बाकि सबके हांथ बंधे हुए थे।

इसे भी पढ़ें: बुराड़ी मामले में सभी 11 शवों का मनोवैज्ञानिक शव परीक्षण कराने की तैयारी में पुलिस, खुल सकते हैं अहम राज

24 जून से शुरू की दी थी लटकने की प्रैक्टिस

पुलिस को संदेह है कि ललित ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर परिवार के सभी सदस्यों के हाथ बांधे होंगे और सबके लटकने के बाद खुद भी फांसी पर लटक गए होंगे। डायरी के मुताबिक, भाटिया परिवार ने 24 जून से फंदे पर लटकने की प्रैक्टिस शुरू कर दी थी। ललित ने घर वालों को ये यकीन दिला रखा था कि 10 साल पहले मर चुके पिता भोपाल सिंह राठी अब भी घर आते हैं और उससे बाते करते हैं।

Next Story
Top