Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली फिर बन रही गैस चैंबर, सबसे गंभीर स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, जानें इसके 5 कारण

देश की राजधानी दिल्ली एक बार फिर गैस चैंबर बनने जा रही है। सोमवार को दिल्ली के लोधी रोड इलाके में प्रदूषण सूचकांक पीएम 2.5 पर 263 और पीएम 10 पर 249 दर्ज किया गया।

दिल्ली फिर बन रही गैस चैंबर, सबसे गंभीर स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, जानें इसके 5 कारण
X
देश की राजधानी दिल्ली एक बार फिर गैस चैंबर बनने जा रही है। हर साल की तरह इस साल भी ठंड शुरू होने से पहले प्रदूषण को लेकर दिल्ली चिंतित है। प्रदूषण को लेकर कुछ निर्देश जारी किए गए हैं। दीपावली से पहले ही दिल्ली की हवा जहरीली बन रही है।
एएनआई के मुताबिक, आज यानी सोमवार को दिल्ली के लोधी रोड इलाके में प्रदूषण सूचकांक पीएम 2.5 पर 263 और पीएम 10 पर 249 दर्ज किया गया। वहीं दूसरी तरफ बीते दिन रविवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 381 दर्ज किया गया था। रविवार को राजधानी में हवा की क्वालिटी इस सीजन में सबसे खराब रही।
जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता तथा मौसम पूर्वानुमान एवं अनुसंधान प्रणाली की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में पंजाब और हरियाणा में जलाई गई पराली का सबसे ज्यादा असर देखा जा रहा है। रिपोर्ट में प्रदूषक पीएम 2.5 के प्रभाव का विश्लेषण किया गया है।

लोगों की हेल्थ के लिए निर्देश जारी

वहीं रिपोर्ट में कहा गया है कि पराली जलाये जाने से होने वाले प्रदूषण में अगले दो दिनों में कमी आयेगी। इस बीच दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के स्तर के कारण एक स्वास्थ्य के लेकर निर्देश जारी किए गए हैं। दिल या फेफड़ों की बीमारी से पीड़ित लोगों, वृद्धों और बच्चों के साथ-साथ लोगों से लंबे समय तक या भारी परिश्रम से बचने की अपील की गई है।

प्रदूषण करने के 5 कारण

1. दिल्ली में प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण वाहन हैं। बाहरी राज्यों से आने वाली करीब 45 लाख गाड़ियों से भी प्रदूषण बड़ता है। इसमें डीजल या पेट्रोल की गाड़ियां ज्यादा प्रदूषण करने वाली है।
2. दिल्ली में प्रदूषण का दूसरा करण उद्योग और लैंडफिल साइट का है। जिनके चलते करीब 23 फीसदी प्रदूषण फैलता है। डंपिंग यार्ड और कचरा जलाने से भी करीब 10 फीसदी प्रदूषण फैलता है।
3. तीसरा कारण दिल्ली की हवा है। जिनके चलते करीब 19 फीसदी प्रदूषण होता है। इसमे पड़ोसी राज्यों से आने वाली धूल धुंआ और प्रदूषण भी शामिल है।
4. दिल्ली में प्रदूषण फैलाने के पीछे कंस्ट्रक्शन, कूड़ा कचरा, शवदाह भी शामिल है इससे भी प्रदूषण फैलता है जो करीब 12 फीसदी होता है।
5. अंत में रसोई घर से निकलने वाला धुआ भी प्रदूषण स्तर को बढ़ाता है। इससे भी गैस चैंबर बनता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story