Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस ने 7 ''करोड़पति'' नौकरानियों को किया गिरफ्तार, ऐसे कराती थीं चोरियां

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने चोरी की कई वारदातों को अंजाम दे चुकीं एक गिरोह की सात महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने 7

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने घरों में मेड की नौकरी करने के बहाने चोरी की कई वारदातों को अंजाम दे चुकीं एक गिरोह की सात महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने उनके पास से करीब 1 करोड़ रुपए के सोने और हीरे के जेवर भी बरामद किए है। मियांवाली, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और हौज खास थाने में दर्ज चोरी के 3 मामलों में सौ प्रतिशत ज्वेलरी इनके पास से बरामद हो गई है।

पुलिस ने सुलझाए 9 मामले

पुलिस ने इस गिरफ्तारी के बाद राजौरी गार्डन, मंगोलपुरी, ग्रेटर कैलाश, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, हौज खास, मियांवाली नगर, सरिता विहार और नोएडा में दर्ज चोरी के 9 मामले सुलझा लिए हैं।

यह भी पढ़ें- 20 साल की सजा सुनने के बाद अपराधी ने कोर्ट में ये कहते हुए पिया जहर

ऐसे करती थीं चोरी

इन मामलों में से पांच मामलों की जांच क्राइम ब्रांच ही कर रही थी। इस केस में गिरफ्तार महिलाओं की खास बात यह है कि इनमें से ज्यादातर दिल्ली-एनसीआर के पॉश इलाकों में स्थित फ्लैट्स और कोठियों में नौकरी करती थीं। ये महिलाएं मालिकों का भरोसा जीतने के बाद कुछ दिनों के भीतर घर में चोरी की वारदात को अंजाम देती थी।
डॉ. रामगोपाल नाईक, डीसीपी (क्राइम) के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में घरों में चोरी और सेंधमारी की कई वारदातों के सामने आने के बाद क्राइम ब्रांच की टीम इनमें से पांच मामलों की जांच में जुट गई थी।

जिसके बाद एक गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस की टीम ने गाजीपुर बस डिपो के पास छापेमारी में इस गिरोह की 5 महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस द्वारा गिरोह की 2 महिलाओं को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका था।

यह भी पढ़ें- इन पांच देशों के स्कूलों में दी जाती है हैरान कर देने वाली सजा

2-2 के ग्रुप में करती थीं मेड का काम

पुलिस के अनुसार, ये सभी महिलाएं बिहार के भागलपुर जिले की रहने वाली हैं। पुलिस पूछताछ में मालूम हुआ कि ये महिलाएं दो-दो के ग्रुप में घरों में नौकरानी का काम करती थी। महिलाएं बिहार के रहने वाले एक जूलर के जरिए ही चोरी के माल को ठिकाने लगाती थीं।
Next Story
Top