Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दिल्ली में वायु प्रदूषण की शिकायतों पर कार्रवाई नहीं करने वाले सरकारी अधिकारियों पर मुकदमा चलेः सुप्रीम कोर्ट

उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली में प्रदूषण पर सोमवार को सख्त रूख अख्तियार करते हुए केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) को नागरिकों से प्राप्त करीब 250 शिकायतों पर कार्रवाई नहीं करने को लेकर सरकारी अधिकारियों पर मुकदमा चलाने को कहा है।

दिल्ली में वायु प्रदूषण की शिकायतों पर कार्रवाई नहीं करने वाले सरकारी अधिकारियों पर मुकदमा चलेः सुप्रीम कोर्ट

उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली में प्रदूषण पर सोमवार को सख्त रूख अख्तियार करते हुए केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) को नागरिकों से प्राप्त करीब 250 शिकायतों पर कार्रवाई नहीं करने को लेकर सरकारी अधिकारियों पर मुकदमा चलाने को कहा है। न्यायालय ने दिल्ली में वायु गुणवत्ता ‘‘बहुत खराब' श्रेणी की दर्ज किए जाने के मद्देनजर यह कहा।

न्यायमूर्ति मदन बी लोकूर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने कहा कि इन शिकायतों पर कार्रवाई करने में विफल रहने वाले अधिकारियों पर मुकदमा चलाने की जरूरत है। पीठ ने सीपीसीबी की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सालिसीटर जनरल एएनएस नाडकर्णी से कहा, ‘‘आपने इन अधिकारियों पर मुकदमा क्यों नहीं किया ? इन लोगों को यह पता चलना चाहिए कि उन्होंने क्या किया है।'
न्यायालय ने कहा कि सोशल मीडिया साइटों (फेसबुक और टि्वटर) पर बनाए गए सीपीसीबी के अकाउंट पर दिल्ली में वायु प्रदूषण के बारे में मिली करीब 250 शिकायतों पर कार्रवाई नहीं करने वाले सरकारी अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाये।
नाडकर्णी ने कहा कि एक से 22 नवंबर के दौरान उसे सोशल मीडिया पर अपनी वेबसाइट पर वायु प्रदूषण के बारे में 749 शिकायतें मिलीं और इनमें से करीब 500 शिकायतों पर कार्रवाई की गयी। शिकायत पर कार्रवाई नहीं करने वाले अधिकारियों पर मुकदमा चलाने के न्यायालय के सुझाव पर उन्होंने कहा कि केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड इस पर गौर करेगा।
बोर्ड ने एक नवंबर को शीर्ष अदालत से कहा था कि उसने ट्विटर और फेसबुक पर अपने एकाउन्ट बनाये हैं ताकि दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु प्रदूषण के बारे में नागरिक शिकायत दर्ज कर सकें। शीर्ष न्यायालय दिल्ली में वायु प्रदूषण से संबंधित अनेक मुद्दों पर विचार कर रही है।
Next Story
Top