Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दिल्ली : बहन को छोड़ चुके जीजा को मारने दोस्तों के साथ पहुंचा साला, गिरफ्तार

आरोपी ने बताया कि वह 2016 में उसकी बहन की शादी शाहाबद निवासी विशाल से हुई थी। शादी के कुछ वर्षों बाद विशाल ने उसकी बहन को छोड़ दिया था।

Court sentenced to life imprisonment for brother murder in GurugramCourt sentenced to life imprisonment for brother murder in Gurugram

द्वारका जिले के एंटी स्नेचिंग टीम ने हत्या के प्रयास मामले में फरार चल रहे एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी का नाम शिव उर्फ अक्षय (22) है। आरोपी जे जे कॉलोनी, रघुवीर नगर का रहने वाला है। पुलिस ने आरोंपी के पास से एक देसी कट्टा बरामद किया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

डीसीपी (द्वारका) एंटो अल्फोंस के मुताबिक, गत दो नवंबर रात करीब 12:30 बजे द्वारका पुलिस को सूचना मिली कि गांव शाहबाद, मोहम्मदपुर में एक युवक को कुछ लोगों ने गोली मार दी है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस घायल को अस्पताल लेकर गई, जहां पुलिस को पता चला कि युवक की जांघ में गोली लगी है।

घायल युवक संस्कार ने पुलिस को बताया कि उसको रघुवीर नगर निवासी अक्षय ने गोली मारी है। आगे उसने बताया कि अक्षय के अंकल विशाल से उसका पारिवारिक विवाद चल रहा है। आगे उसने बताया कि अक्षय अपने दो साथियों के साथ आया और उसने उसको गोली मार दी और मौके से फरार हो गया।

पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। एसीपी द्वारका, राजेंद्र सिंह की देखरेख में एक टीम का गठन किया गया। इसी बीच टीम को सूचना मिली कि आरोपी अक्षय शुक्रवार करीब 11:00 बजे शाहबाद रेलवे क्रॉसिंग के पास आने वाला है। टीम ने मौके पर पहुंचकर आरोपी को दबोच लिया।

तलाशी लेने पर पुलिस को उसके पास से एक देसी कट्टा मिला। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह 2016 में उसकी बहन की शादी शाहाबद निवासी विशाल से हुई थी। शादी के कुछ वर्षों बाद विशाल ने उसकी बहन को छोड़ दिया था।

इसी वजह से वह और उसका परिवार हताश हो गया था। इस दौरान वह अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर विशाल के घर पहुंचा। यहां उन्हें विशाल नहीं मिला। झगड़े के बाद आरोपियों ने एक युवक को गोली मारकर घायल कर दिया।

मंडोली जेल में बंद है आरोपी का भाई

अक्षय ने पुलिस को बताया कि उसके पिता नशे के आदी हैं। आठवीं के बाद उसने पढ़ना छोड़ दिया था। इसके बाद वह असामाजिक तत्वों के संपर्क में आया और नशा करने लगा। इस दौरान उसने एक सेल्समैन का भी काम किया था, लेकिन नशे की लत के कारण उसने काम छोड़ दिया। अक्षय का बड़ा भाई सौरभ उर्फ गोलू एक मामले में मंडोली जेल में बंद है। कोर्ट ने उसे 11 साल की सजा सुनाई थी।

Next Story
Share it
Top