Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए गुरुग्राम से दिल्ली तक निकाली गई बाईक रैली, स्लम एरिया में कर रहा है ये NGO

बच्चों के लिए 150 लोगों ने मोटरसाइकिल रैली निकाली गई। महिलाओं ने भी मोटरसाइकिल रैली में हिस्सा लिया। मोटरसाइकिल रैली हरियाणा के गुरूग्राम से दिल्ली के गोल मार्किट तक निकाली गई।

गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए गुरुग्राम से दिल्ली तक निकाली गई बाईक रैली, स्लम एरिया में कर रहा है ये NGO

संतोष सागर सेवा संस्थान एवं बाईकर पैराडाइज ने मिलकर दिल्ली के जेजे कॉलोनी में रहने वाले गरीब बच्चों के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया। कार्यक्रम में बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य को लेकर चर्चा की गई।

इसे भी पढ़ेंः CBSE: छात्रा को दिया 10वीं गणित का गलत पेपर, दोबारा परीक्षा कराने के आदेश

इसके अलावा संस्थान और बच्चों के लिए 150 लोगों ने मोटरसाइकिल रैली निकाली गई। महिलाओं ने भी मोटरसाइकिल रैली में हिस्सा लिया। मोटरसाइकिल रैली हरियाणा के गुरूग्राम से दिल्ली के गोल मार्किट तक निकाली गई।
यह एनजीओ कुछ विधार्थियों का समूह है जो गरीब बच्चों के स्वास्थ्य, शिक्षा और जीवन में सुधार के लिए कार्य कर रहा है। एनजीओ के बच्चों के व्यक्तित्व में सुधार आया है।
संस्थान के संस्थापक ललित कुमार का कहना है कि जो बच्चे पहले एक ही क्लास में कई बार फेल होते थे वो आज अपनी क्लास के मेधावी बच्चों की लिस्ट में शामिल हैं और अच्चे अंको के साथ पास हो रहे हैं।

गरीब बच्चों को प्रतिभाशाली बनाना

संस्थान गरीब बच्चों को मुख्यधारा से जोड़ने, जेजे कलोनी के बच्चों के टैलेन्ट को पूरी दुनिया के सामने लाना, गरीब बच्चों की मदद को आगे के लिए लोगों को प्रेरित करना, बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जागरूकता फ़ैलाना और कुछ मेधावी और प्रतिभाशाली बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाता है।

बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं पर नाटक

कार्यक्रम में बच्चों ने देशभक्ति गानों पर डान्स प्रस्तुत किए, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर नुक्कड़ नाटक, भारतीय सेना के जवानों की बहादुरी एवं बलिदान से संबंधित विशेष नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किये, बच्चों के द्वारा कू़ड़े से बनाये गये बेहतरीन प्रोजेक्ट दिखाये गए।
संतोष सागर सेवा संस्थान एनजीओ की स्थापना 27 वर्षिय युवा ललित कुमार यादव ने साल 2017 में की थी, ललित यादव महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक के लोक प्रशासन विभाग में पीएच.डी के शोधार्थी हैं।
Next Story
Top