Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अंकित सक्सेना हत्याकांड: ये हत्या थी या लव जिहाद, खुला राज

दिल्ली ख्याला में पिछले हफ्ते हुई अंकित सक्सेना की हत्या के मामले में एक चौंकाने वाला सच सामने आया है। आरोपी परिवार की एक लड़की ने दूसरे धर्म के लड़के से शादी की थी।

अंकित सक्सेना हत्याकांड: ये हत्या थी या लव जिहाद, खुला राज

दिल्ली ख्याला में पिछले हफ्ते हुई अंकित सक्सेना की हत्या के मामले में एक चौंकाने वाला सच सामने आया है। आरोपी परिवार की एक लड़की ने दूसरे धर्म के लड़के से शादी की थी। उसकी चचेरी बहन ने 3 साल पहले एक ब्राह्मण जाति के लड़के से शादी की थी। जिसके बाद से उसके परिवार ने अपने रघुबीर नगर वाले घर में लड़की के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी थी, और उससे अपने सारे रिश्तों को खत्म कर दिया थे।

आपको बता दें कि चचेरी बहन अपने पति और ससुरालवालों के साथ रघुबीर नगर में बिहारी मंडी के करीब किराए के मकान में रह रही है। बात करने पर एक पारिवारिक मित्र ने बताया कि वह (चचेरी बहन) अब अपने पति के घर वालों के रहन सहन को अपना लिया है और वह उन की ही तरह शाकाहारी बन गई है।

इसे भी पढ़ें: ये है बाहुबली का मंदिर, भगवान राम के थे वंशज- जानिए इनकी पूरी कहानी

कभी-कभी वह बाजार में जाते हुए अपनी बहन से भी मुलाक़ात करती थी। लड़की की मां ने उससे अपने सारे रिश्ते तोड़ दिए हैं। गौरतलब है कि पिछले गुरुवार को लड़की के पिता, चाचा और मां ने कथिततौर पर 23 साल के अंकित सक्सेना पर धारधार हथियार से हमला कर के हत्या कर दी थी।

चचेरी बहन ने इस मसले में कोई भी बयान देने से साफ इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि मैं उनके बारे में कोई बात नहीं करूंगी क्योंकि मुझे अपने दो बच्चों की परवरिश करनी है। लोग बताते हैं कि यह शादी बहुत गुपचुप तरीके से कि गई थी। चचेरी बहन कि शादी में केवल लड़की की दादी और आंटी शामिल हुई थीं।

इसे भी पढ़ें: चाणक्य के ये 10 विचार बदल देंगे आपका जीवन, यकीन नहीं तो खुद पढ़ लें

परिवारिक दोस्तों को भी एक साल बाद इस शादी के बारे में पता चला था। कॉलोनी में रहने वाली पड़ोस की बसंता देवी ने बताया कि हमने अंकित को कई बार देखा था और उसे लड़की की मां के बारे में चेतावनी भी दी थी। बात उस समय बिगड़ गई जब लड़की के भाई ने अंकित के मेसेज बारे में पता चला। उसने अपनी मां को इस बारे में बताया।

जिसके बाद वारदात को अंजाम देने के लिए लड़की के परिवार वालों ने योजना बनाई। बताया जा रहा है वारदात के वक्त अंकित ने उनसे बार-बार उसे छोड़ देने की बात कही, लेकिन हमलावर उसकी एक नही सुन रहे थे। मारपीट के बीच सड़क पर जब जाम लगने लगा तो वे अंकित को लेकर फुटपाथ पर गए और वहीं पर वारदात को अंजाम दिया।

लोगों का का कहना है कि यदि युवती के पिता ने थोड़ी सूझबूझ दिखाई होती तो मामला टल सकता था। लेकिन आक्रोश में आकर जिस तरह की वारदात हुई है वह निंदनीय है।

Next Story
Top