Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यमुना का पानी नहीं है पीने योग्य: रिपोर्ट

दिल्ली में यमुना नदी को साफ सुधरा रखने के लिए केंद्र सरकार करोड़ो रुपए खर्ज कर चुकी है।

यमुना का पानी नहीं है पीने योग्य: रिपोर्ट
नई दिल्ली. दिल्ली में यमुना नदी को साफ सुधरा रखने के लिए केंद्र सरकार करोड़ो रुपए खर्ज कर चुकी है। लेकिन यमुना नदी का पानी दिनों दिन गंदा और विषैला होता जा रहा है। डेलीमेल में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में यमुना नदी मर चुकी है। आगे कहा गया है कि यमुना का पानी बहुत विषैला और किसी भी व्यक्ति के लिए साफ नहीं है या कहे कि पीने योग्य नहीं है।
बता दें कि इंटरनेशनल जनर्ल ऑफ इंजीनियरिंग साइंट एंड रिसर्च टेक्नोलॉजी के शोध के मुताबिक, पानी साफ करने वाली महंगी मशीनों से भी नदीं का पानी साफ नहीं हुआ है। और तो और रासायनिक निस्पंदन और जैविक उपचार के आधार पर प्रक्रियाओं (टीडीएस) से भी नदी का पानी पीने योग्य नहीं हो पाया है। शोधकर्ताओं ने नजफगढ़ ड्रेन के पानी के नमूने टेस्टिंग के लिए थे और साथ ही निजामुद्दीन ब्रिज, ओखला बैराज और अगरा की तरफ जाने वाले नहर से भी पानी के कुछ नमुने को चेक करने के लिए इकट्ठा किया गया था।
यमुना एक प्राकृतिक संसाधन देने वाली नहीं है और इस स्टेडी के दौरान पता चला कि नदी का गदा पानी अगरा नहर की तरफ छोड़ा जा रहा है। जिससे कृषि के लिए 638 गांवों में इस्तेमाल किया जाता है। हम दिल्ली में यमुना नदी के पानी की गुणवत्ता की जांच की, जो जो आगरा नहर में बहती है और सिंचाई के लिए प्रयोग किया जाता है। एमिटी विश्वविद्यालय के एप्लाइड कैमिस्ट्री विभाग और इस शोध के लेखक आर.एस दूबे कहते है कि परिणाम बताते है कि पानी के नमूनों भारी अंतर मिला है जो दिल्ली और आगरा नदी का पानी है।
शोधकर्ता का कहना है कि प्रदूषित पानी का लेवल बहुत ऊपर बढ़ चुका है। प्रदूषण नियंत्रण अधिकारियों द्वारा सिंचाई के लिए निर्धारित सीमा से अधिक लेवल बढ़ चुका है। यमुना के पानी की गुणवत्ता प्रदूषित है और ना ही किसी दूसरी चीज के उपयोग के लिए सही है। न
दूबे का कहना है कि शहरी क्षेत्रों की ज्यादातर नदियां घरों और उद्योगों के पानी से बेकार और खोखली हो चुकी है। जिन्होंने नदियों के पानी की गुणवत्ता के लिए बहुत बड़ी समस्या पैदा कर दी है। नदियों में गंदे पानी के बहने से कृषि उत्पादों की गुणवत्ता, भूमि की उर्वरता कम करने और जनता के स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव डाला है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top