Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिजली की कटौती से दिल्लीवासी हैं परेशान

बिजली की अधिकतम मांग करीब 5800 मेगावॉट दर्ज की गई।

बिजली की कटौती से दिल्लीवासी हैं परेशान
X
नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंविद केजरीवाल ने भले ही बिजली वितरण करने वाली कंपनी बीएसईएस के सीईओ और उद्यमी अनिल अंबानी को पत्र लिखकर दिल्ली में बिजली की आपूर्ति को समान्य करने की बात कही हो।
राजधानी के अधिकतर इलाकों में बिजली की अघोषित कटौती से राजधानीवासियों का जीना दुश्वार हो गया है। रामजान का माह होने के कारण मुस्लिम परिवारों को भी कटौती से रोजा के दौरान कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। सीलमपुर निवासी रेश्मा अली का आरोप है कि गर्मी के शुरूआत होते ही इलाके में बिजली की लुका-पीछी का खेल शुरू हो गया था, जो आज तक जारी है। वहीं, शाहीदा चौधरी की शिकायत है कि बिजली की कटौती के कारण रोजा के दौरान काफी दिक्कतें होती हैं।
जहां एक ओर तापमान 40 डिग्री के पार है। वहीं, दूसरी ओर बिजली के आनेजाने का खेल दिन रात लगा रहता है। राजधानी में बुधवार को बिजली की अधिकत मांग करीब 5800 मेगवाट दर्ज की गई। इसी प्रकार न्यूनतम मांग 3850 मेगावाट दर्ज की गई, जबकि राजधानी में स्थित सभी संयंत्रों में करीब 1000 मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा था। मांग और उत्पादन में भारी अंतर के कारण राजधानी के अधिकतर इलाकों में बिजली की कटौती की जा रही थी।
राजधानी के मौजपुर, सीलमपुर, बाबरपुर, घोंडा, बुराड़ी, संत नगर, सोनिया विहार, दिलशाद गार्डन, खजुरी, खजुरी-खास, शकरपुर, पांडव नगर, ओखला, सरीता विहार, बदरपुर, जैतपुर, छतरपुर,अंबेडकर नगर, देवली, महरौली, अलीपुर, बवाना, मुंडका के अलावा मध्य दिल्ली के कई इलाकों में लोगों का बिजली की कटौती से जीना दुश्वार हो गया है।
हैरानी की बात यह है कि जहां एक ओर बिजली कटौती ने लोगों की नींद हराम कर दी है। वहीं, दूसरी ओर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कंपनियों को सुधर जाने की धमकी दे रही है और नहीं मानने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दे रहे हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story