Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली: दो मासूम बच्चियों को छोड़ घर से भागे मां-बाप

दोनों बहने मरने की कगार पर थी

दिल्ली: दो मासूम बच्चियों को छोड़ घर से भागे मां-बाप
नई दिल्ली. दो बहनों को उनके ही माता-पिता उन्हें अकेला छोड़ घर से भाग गए। दोनों बहने पिछले चार दिनों से बिना खाए-पिये घर में ही पड़ी रही। यह घटना बाहरी दिल्ली के समयपुर बादली इलाके की है। पुलिस के मुताबिक, लड़कियों की मां पिछले दो महीने पहले ही अपने 5 साल के लड़के को लेकर घर छोड़कर जा चुकी थी और पियक्कड़ पिता 15 अगस्त को घर से भाग गया।
पड़ोसियो ने दी पुलिस को खबर
जानकारी के मुताबिक, 19 अगस्त को पड़ोसियों के पुलिस को बुलाने के बाद इन दोनों बहनों को छुड़ाया गया। अलका जिसकी उम्र 8 साल है और दूसरी जिसका नाम ज्योति है जो कि 3 साल की है। पुलिस के मुताबिक दोनों बहनें भूखे और प्यासे रहने की वजह से काफी दुर्बल हो चुकी थी। बता दें कि दोनों बहने एक गंदे से कमरे में चारपाई पर पाई गई। गौरतलब है कि यह लोग शिव मंदिर के पास नेपाली कलोनी में एक किराए के मकान में पिछले दो साल से रहे थे।

दोनों मरने की कगार पर थी
पुलिस के मुताबिक, पड़ोसियों ने बताया कि दोनों बहने बिल्कुल मरने की कगार पर थी और उनके कमरे से काफी गंदी बदबू आ रही थी। वहीं, उनके शरीर के घाव भी सड़ते जा रहे थे। उनके लिए कुछ भी खाने को नहीं था और कमरे में कोई खिड़की नहीं थी जिसकी वजह से पूरा कमरा मच्छर और मक्खियों से भरा हुआ था।
तुरन्त अस्पताल ले जाया गया
हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, दोनों बहनों को मौके पर ही दिल्ली के रोहिणी स्थित बाबा साहब अम्बेडकर अस्तपताल ले जाया गया जहां डॉक्टर भी उनकी स्थिति देखकर घबरा गए। डॉक्टरों ने बताया कि उनके सड़े जख्म उनके दिमाग पर नकारात्मक असर छोड़ रहे थे। बता दें कि पिछले चार दिनों में उनका अच्छा इलाज किया गया जिससे उनकी हालत में पहले से काफी सुधार है।
बाल कल्याण समिति को भेजी रिपोर्ट
पुलिस ने इस मामले को देखते हुए बाल कल्याण समिति को दोनों बहनों की रिपोर्ट भेज दी है। बाल कल्याण समिति के आदेश के अनुसार जब तक दोनों बहनें पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाती उन्हें पुनर्सुधार केंद्र नहीं भेजा जाएगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top