Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''लिव इन रिलेशनशिप'' में रहने के लिए घर से भाग गईं दो सहेलियां

दोनों लड़कियों के लापता होने के बाद उनके परिवार आपस में उलझते रहे।

नई दिल्ली. ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे, तोड़ेंगे दम मगर तेरा साथ न छोड़ेंगे। बिल्कुल ऐसा ही एक मामला सामने आया है। दो लड़कियों की 'दोस्ती' से उनके परिवारों मे दुश्मनी हो गई है। इन लड़कियों की दोस्ती इस कदर परवान चढ़ी कि दोनों ने एक साथ रहने के लिए घर-परिवार छोड़ दिए। लड़कियां घर से भागकर चोरी-छिपे जयपुर में एक-साथ 'लिव इन रिलेशनशिप' रहने लगीं।
इन लड़कियों की साथ रहने की जिद ने दोनों के परिवारों को दुश्मन बना दिया दोनों के लापता होने के बाद से उनके परिवार आपस में उलझते रहे। एक-दूसरे पर बेटी को भगाने का इल्जाम लगाते रहे और केस तक दर्ज करवा दिए।
मामला दिल्ली पुलिस के पास पहुंचा तो पुलिस ने ढाई साल बाद दोनों लड़कियों को खोज निकाला। दोनों को उनके परिवारों के हवाले कर दिया। लेकिन लड़कियों ने साथ रहने की ठान ली है। इस तरह वो दोनों दोनों खुद को बालिग बताकर फिर साथ रहने चली गईं। दरअसल, एक युवती के परिजनों ने 13 मार्च 2015 को स्वरूप नगर थाने में रिपोर्ट लिखवाई थी कि उनकी बेटी 6 नवंबर 2014 से गायब है। इस बाबत पुलिस ने किडनैपिंग का केस दर्ज किया। उसका पता देने वाले के लिए 20 हजार रुपये का ईनाम भी घोषित कर दिया। इस केस में स्वरूप नगर पुलिस को सुराग मिला कि लापता युवती जयपुर के श्यामनगर में है। एसएचओ भरत मीणा की टीम ने उसे खोज लिया।
वहां पता चला कि उसको किसी ने किडनैप नहीं किया था, बल्कि वह अपनी मर्जी से एक पुरानी सहेली के साथ 'लिव इन रिलेशनशिप' में रहती है। उसकी सहेली की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी राजस्थान के भरतपुर थाने में दर्ज मिली, इसलिए दिल्ली पुलिस ने उसे भी भरतपुर पुलिस के हवाले कर दिया। डीसीपी मिलिंद डुंबरे ने इस पूरे घटनाक्रम की पुष्टि की है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार, दोनों युवतियों की उम्र 22 से 24 साल के बीच हैं। बालिग होने की वजह से दोनों ने फिर अपने घर छोड़ दिए हैं और वापस भरतपुर में रहने चली गई हैं। दोनों पहले साथ पढ़ा करती थीं, फिर उनके रिश्ते इतने गहराए कि घर-परिवार छोड़कर अलग दुनिया बसा ली।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top