Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गणतंत्र दिवसः हवाई हमले का अंदेशा, जमीं से आसमां तक पहरा

दिल्ली में चप्पे चप्पे पर करीब 50 हजार सुरक्षा कर्मी तैनात हैं।

गणतंत्र दिवसः हवाई हमले का अंदेशा, जमीं से आसमां तक पहरा
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत देशभर में गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा के कडे प्रबंध किए गए हैं। गुप्तचर जानकारी के मद्देनजर विशेष जोर हवाई आधारित खतरों को निष्क्रिय करने पर रहेगा।
ऐतिहासिक राजपथ पर विशेष इंतजाम किए गए हैं, जहां राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी देश की प्रदर्शित होनेे वाली सैन्य ताकत देखेंगे। राष्ट्रपति सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर हैं। पूरे मध्य एवं नई दिल्ली क्षेत्र में चप्पे चप्पे पर करीब 50 हजार सुरक्षा कर्मी तैनात होंगे। इसमें दिल्ली पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवान शामिल होंगे।
हाल में आयी इस गुप्त सूचना के मद्देनजर हो सकता है कि लश्करे तैयबा जैसे आतंकवादी समूह हेलीकॉप्टर चार्टर सेवाएं और चार्टर उड़ानों का इस्तेमाल करते हुए हवा के जरिये हमले की योजना बना रहें हो, दिल्ली पुलिस अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ मिलकर कडी सतर्कता रख रही है।
पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पुलिस किसी भी हमले को विफल करने या उडने वाली संदिग्ध वस्तुओं की पहचान करने के लिए ड्रोन निरोधक तकनीक का इस्तेमाल कर रही है। अधिकारी ने कहा कि इसके अलावा सुरक्षा कर्मी विमान निरोधक बंदूकों के साथ उंची इमारतों पर तैनात रहेंगे।
सीसीटीवी कैमरे लगाये गए हैं और नियंत्रण कक्ष स्थापित किये गए हैं ताकि कैमरों से मिलने वाली फीड की निगरानी की जा सके। सुरक्षा एजेंसियों को जारी परामर्श में कहा गया है कि सुरक्षा बलों के लिए यह जरुरी है कि वे खतरों के दायरे को समझें और उससे निपटने के लिए उपयुक्त रास्ते अपनायें। सुरक्षा बलों से कहा गया है कि पुलिस एवं अन्य सुरक्षा कर्मियों की भी ठीक से जांच की जाए क्योंकि ऐसी आशंका है कि आतंकवादी सुरक्षा बलों का वेश धारण कर सकते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top