Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ट्रेन में महिला ने दिया बच्चे को जन्म, किन्नरों ने कराई डिलीवरी

महिला ने बताया कि ट्रेन में मौजूद लोग नहीं आए बल्कि तीन किन्नरों ने मेरी मदद की।

ट्रेन में महिला ने दिया बच्चे को जन्म, किन्नरों ने कराई डिलीवरी
नई दिल्ली. भारतीय समाज में अभी भी ज्यादातर लोग ऐसे हैं जिन्होंने किन्नरों को सामाजिक तौर पर स्वीकार नहीं किया है। लोगों की अवधारणा बन चुकी है कि किन्नर सिर्फ ट्रेन में यात्रियों से या रोड पर लोगों से जबरन पैसे वसूलते हैं। लेकिन बीते बुधवार को तीन किन्नरों ने ट्रेन के अंदर एक प्रेगनेंट महिला की मदद करके इस अवधारणा को बदल कर रख दिया।
एक 25 वर्षीय गर्भवती महिला तिरुवनंतपुरम से गुवाहाटी सुपर फास्ट एक्सप्रेस में सफर कर रही थी। उसी दौरान अचानक महिला को प्रसव पीड़ा शुरु हो गई। उस दौरान ट्रेन में तीन किन्नर मलाठी (26), शेमाला (50), शंकरी (50) वहां पर मौजूद थे। उन्होंने ट्रेन में ही बच्चे की डिलिवरी के लिए महिला की मदद की। सुबह करीब साढ़े सात बजे ट्रेन जब काटपाडी रेलवे स्टेशन पहुंची तब महिला और बच्चे को सरकारी मेडिकल हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया।
जरीना बेगम ने बताया कि वह अपने पति अल्लम मोहम्मद और दो बच्चों के साथ डिलिवरी के लिए गुवाहाटी जा रही थीं। लेकिन इससे पहले कि हम गुवाहाटी पहुंचते मुझे दर्द शुरु हो गया। ट्रेन में मौजूद सभी लोग इस बात से अनजान थे। तभी तीन किन्नरों ने हमारे पास आकर मदद की।
न्यूज वेबसाइट लॉजिकल इंडियन की रिपोर्ट के मुताबिक, मलाठी ने एक सरकारी अस्पताल में 6 महीने की प्रसव वार्ड में ट्रेनिंग ली थी। लेकिन परिवार की समस्या की वजह से उसे ट्रेनिंग छोड़नी पड़ी थी। लेकिन मलाठी के कुछ समय के अनुभव से डिलीवरी करने में मदद मिली। वहां मौजूद सभी लोगों ने किन्नरों को धन्यवाद दिया। हालांकि वेल्लोर पैरामेडिकल स्टाफ को पहले से ही इसकी जानकारी दे दी गई थी जिससे वे एम्बुलेंस लेकर मौके पर मौजूद रहें।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top