Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब बिना पटाखों के निकलेगी बारात-मनेगी दिवाली, सुप्रीम कोर्ट ने बिक्री पर लगाई रोक

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्रीय पर्यावरण प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड को भी तीन महीने में रिपोर्ट जमा करने को कहा है।

अब बिना पटाखों के निकलेगी बारात-मनेगी दिवाली, सुप्रीम कोर्ट ने बिक्री पर लगाई रोक
X
नई दिल्ली. दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को दिल्ली और एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दिया है। कोर ने सरकार और प्रशासन को निर्देश दिया है कि पटाखों की बिक्री, भंडारण पर अगले आदेश तक रोक जारी रहेगी। कोर्ट ने यह भी कहा है कि लाइसेंस को न तो रिन्यू किया जाएगा और न ही नया लाइसेंस बनाए जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्रीय पर्यावरण प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड को भी तीन महीने में अध्ययन कर बताने को कहा है कि पटाखों में कितने खतरनाक रसायन का प्रयोग किया जा रहा है। हाल ही में दिवाली के बाद राजधानी दिल्ली की हवा में सल्फर डाईआक्साइड (एसओ 2) का स्तर बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच गया था।
वहीं एनसीआर की बात करें तो सबसे ज्यादा प्रदूषण रिकॉर्ड नोएडा में दर्ज किया गया था। इसके अलावा सीपीसीबी ने पिछले साल 15-30 अक्टूबर के दौरान सात महानगरों दिल्ली, लखनऊ, मुंबई, बेंगलूर, चेन्नई, हैदराबाद तथा कोलकाता के 35 स्थानों पर ध्वनि प्रदूषण की निगरानी की। इसमें दीपावली के पूर्व, दौरान एवं बाद की अवधि को भी शामिल किया गया। प्रत्येक शहर के पांच-पांच स्थान शामिल किए गए। जिसमें औद्यौगिक, व्यावसायिक, आवासीय एवं शांत क्षेत्र शामिल थे।
सर्वेक्षण का सबसे बड़ा चौंकाने वाला नतीजा यह निकला है कि रात में हर शहर के हर स्थान पर शोर का स्तर तय मानकों से ज्यादा है। जबकि दिन में कई बार यह तय मानकों के भीतर पाया गया। दीवाली पर बच्चों को आकर्षित करने वाली काले रंग की गोली जैसी टिकिया यानि सांप पटाखा (जिसे जलाने से सांप की आकृति बनती है) सबसे ज्यादा प्रदूषण फैलाता है। यह एक हजार पटाखों वाली लड़ी , रंग-बिरंगी फुलझड़ी, चकरी और अनार से भी ज्यादा हानिकारक है। चेस्ट रिसर्च फाउंडेशन (सीआरएफ) और पुणे यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक सांप पटाखे (स्नेक टैबलेट) को जलाने से सबसे अधिक मात्रा में हानिकारक तत्व निकलता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story