Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुप्रीम कोर्ट ने बदला फैसला, मर चुके व्यक्ति को मौत के बाद मिली थी 7 साल कैद की सजा

पुलिस ने छत्तीसगढ हाई कोर्ट में रिपोर्ट सौंपते हुए हत्या से संबंधित एफआईआर और मृत्यु प्रमाण पत्र भी जमा किया है।

सुप्रीम कोर्ट ने बदला फैसला, मर चुके व्यक्ति को मौत के बाद मिली थी 7 साल कैद की सजा

नई दिल्ली. देश के सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को अपना एक फैसला बदल दिया। पहले तो कोर्ट ने उस आदमी को 7 साल की सजा सुनाई लेकिन फिर पता चला की उस आदमी की मौत हो चुकी है। सजा देने के सात महीने बाद अपनी इस गलती का पता चलने पर कोर्ट ने यह फैसला वापस ले लिया। कोर्ट को बताया गया कि सजा मिले व्यक्ति की मौत उसे दोषी ठहराए जाने से तीन साल पहले ही 2012 में ही हो गई थी।

ये भी पढ़े- आजम खान के बयान से दुखी हुए फ्रांसीसी राजदूत, सपा नेता ने पेरिस अटैक पर दिया था बयान

बता दें कि एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के अनुसार, मामले में जहां आरोपी को 10 अप्रैल 2015 को कोर्ट ने दोषी ठहराया था और सजा सुनाई गई, वहीं उस दिन से करीब तीन साल पहले 2012 में ही उसकी मौत हो चुकी थी। कोर्ट के आदेश के बाद जब पुलिस उक्त दोषी को गिरफ्तार करने उसके गांव पहुंची तब मामले का खुलासा हुआ। स्थानीय लोगों ने बताया कि तीन साल पहले पारिवारिक रंजिश में दोषी के भाई ने ही उसकी हत्या कर दी थी। पुलिस ने छत्तीसगढ हाई कोर्ट में रिपोर्ट सौंपते हुए हत्या से संबंधित एफआईआर और मृत्यु प्रमाण पत्र भी जमा किया है।

ये भी पढ़े- दिल्ली पुलिस के एसीपी ने की खुदकुशी, बदहवास हालत में पत्नी ने चौथे माले से लगाई छलांग

इस मूक बधिर व्यक्ति पर 2006 में एक नाबालिग से रेप करने का आरोप लगा था। उसे स्थानीय कोर्ट और हाईकोर्ट ने आरोप मुक्त कर दिया था क्योंकि पुलिस उसके खिलाफ पुख्ता प्रमाण देने में असफल रही। इस पर पीडि़ता ने 2009 में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की। सुप्रीम कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए आरोपी को नोटिस जारी कर दिया। इसके बाद हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने उसे दोषी मानते हुए 10 अप्रैल को सात साल जेल की सजा सुनाई।

ये भी पढ़े- नीतीश कटारा हत्याकांड : दिल्ली सरकार की अर्जी हुई खारिज, दोषियों को नहीं मिलेगा मृत्युदंड

नीचे की स्लाइड्स में पढें, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे फेसबुक पेज फेसबुक हरिभूमि को, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर -
Next Story
Top