Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक और मुसीबत में फंसे सोमनाथ भारती, 30 को खुलेगी एक्सटेंशन की ''खिड़की''

आधी रात अफ्रीकी महिलाओं के घर पर मारे थे छापे।

एक और मुसीबत में फंसे सोमनाथ भारती, 30 को खुलेगी एक्सटेंशन की
नई दिल्ली. दिल्ली की एक अदालत आप नेता सोमनाथ भारती की उस याचिका पर 30 सितंबर को सुनवाई करेगी जिसमे पिछले साल आधी रात को उनके द्वारा कथित रूप से मारे गए छापे के दौरान कुछ अफ्रीकी महिलाओं के साथ कथित छेड़खानी के मामले में उन्हें फंसाने को लेकर पुलिस अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया गया है।
यह मामला अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश भूपेश कुमार की अदालत में सूचीबद्ध किया गया था लेकिन उनके अवकाश पर होने की वजह से उस पर सुनवाई नहीं हो सकी।
भारती ने मजिस्ट्रेट की अदालत से अपने आवेदन खारिज हो जाने के विरुद्ध सत्र अदालत में दो पुनरीक्षण याचिकाएं दायर की हैं। भारती ने इन आवेदन में पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किए जाने एवं इस मामले की और जांच करने मांग की है। अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने इस मामले में फंसाने के आरोप में अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की भारती की मांग 10 नवंबर को यह कहते हुए खारिज कर दी थी कि केंद्र या राज्य सरकार की मंजूरी के बगैर अपराध का कोई संज्ञान नहीं लिया जा सकता।

अदालत ने कहा था कि अनुचित या पक्षपातपूर्ण जांच के किसी भी आरोप को जांच अधिकारी के आधिकारिक कर्तव्य के निर्वहन से अलग नहीं किया जा सकता। अतएव सीआरपीसी की धारा 197 के तहत जनसेवक की सुरक्षा लागू होती है। हाल के घटनाक्रम में दिल्ली सरकार ने जनवरी, 2014 को खिड़की एक्सटेंशन इलाके में छापे में कथित संलिप्तता को लेकर भारती पर मुकदमा चलाने की 24 सितंबर को मंजूरी दी।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, आगे की खबरें -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top