Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आ गया सर्वे, नोटबंदी के बाद क्या कर रहे हैं चोर

यह खुलासा दिल्ली पुलिस द्वारा सड़कों पर होने वाले अपराध स्ट्रीट क्राइम को लेकर कराए गए एक सर्वेक्षण में हुआ है

आ गया सर्वे, नोटबंदी के बाद क्या कर रहे हैं चोर
नई दिल्ली. पीएम मोदी ने नोटबंदी के बाद देश को कैशलेस होने की सलाह क्या दी झपटमारों ने भी अपना हुनर अपडेट करने का मन बना लिया है। स्मार्टफोन अब दिल्ली के झपटमारों की पहली पसंद बन गए हैं। सड़कों पर महिलाओं से मंगलसूत्र व चेन झपटने वाले बदमाशों की नजर अब स्मार्टफोन पर रहती है। यह खुलासा दिल्ली पुलिस द्वारा सड़कों पर होने वाले अपराध स्ट्रीट क्राइम को लेकर कराए गए एक सर्वेक्षण में हुआ है।
सर्वे के मुताबिक राजधानी में होने वाली वाली झपटमारी की कुल वारदातों में से 54 प्रतिशत स्मार्टफोन छीनने की होती है। दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक,पहले जहां झपटमारी की वारदातों में से केवल 14 फीसदी ही स्मार्टफोन झपटने की होती थीं। वहीं अब यह आंकड़ा बढ़कर 54 फीसदी के आसपास पहुंच गया है।
वारदातों में कमी
नोटबंदी के बाद सोने की खरीद-फरोख्त करने वाले व्यापारियों पर नकेल कसने के बढ़ रहे मामलों के चलते पहले झपटमारी की घटनाओं में मंगलसूत्र या चेन छीनने की वारदातें 57 प्रतिशत होती थीं। अब यह 14 फीसदी हो गई है। इसके बाद पर्स झपटने की घटनाएं होती हैं। इसके बाद झपटमारी में नकदी और बैग छीनने के मामले आते थे।
झपटमारी के यह हैं कारण
स्मार्टफोन की झपटमारी की घटनाओं के बढ़ने के कारण साफ हैं। एक तो स्मार्टफोन के इस्तेमाल में दिनों दिन बृद्धि हो रही है। वहीं, मंगलसूत्र या चेन और अन्य समानों की झपटमारी के बाद उन्हें ठिकाने लगाना कठिन होता जा रहा है। पुलिस जेवरात गिरवी रख कर लोन देने वाली कंपनियों पर भी शिकंजा कस रही है।
यह कदम उठा रही पुलिस
‘स्मार्टफोन' की झपटमारी की वारदातों को रोकने के लिए पुलिस जुट गई है। जांच टीम हर थानाक्षेत्र में होने वाली ‘स्मार्टफोन' या सामान्य फोन की चोरी या झपटमारी की घटनाओं की एफआईआर दर्ज करने के बाद उसकी तकनीकी स्तर पर जांच कर रही है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top