Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली: सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कई वीवीआइपी के जुड़े हैं तार

इसमें कई बड़े एमपी, पॉलिटिकल लीडर और बिजनेस मैन लोग भी जुड़े हैं।

दिल्ली: सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कई वीवीआइपी के जुड़े हैं तार
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस ने एक बहुत बड़े सेक्स रैकेट का खुलासा किया है। साउथ दिल्ली के सफदरजंग एन्क्लेव में छापेमारी करके इस हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया गया है। साथ ही इसमें कई बड़े वीआईपी और नामचीन लोगों के भी नाम जुड़े बताए जा रहे हैं।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को मुख्य आरोपी प्रीतइंद्र नाथ सान्याल (62) को दिल्ली पुलिस ने आयकर अधिकारियों के इशारे पर उसके घर से गिरफ्तार किया था। जानकारी के मुताबिक पिछले महीने सान्याल के घर उज़्बेक की एक महिला को पाया गया था।
साउथ दिल्ली के डीसीपी ईश्वर सिंह ने बताया कि इसमें कई बड़े एमपी, पॉलिटिकल लीडर और बिजनेस मैन लोग भी जुड़े हैं। गिरफ्तारी के बाद आरोपी पीएन सान्याल ने मदद के लिए कई बिजनेस मैं और एमपी को फोन किया था। पुलिस का कहना है कि इस सेक्स रैकेट के तार बहुत दूर तक जुड़े हुए हैं। सभी कॉल मैसेज और कोड नंबर की जांच की जा रही हैं। कुछ नाम सामने आए हैं फिलहाल छानबीन चल रही है।
डीसीपी के मुताबिक, आयकर विभाग ने दिल्ली पुलिस को सान्याल के अवैध और आपराधिक गतिविधियों की एक रिपोर्ट दी थी। जून में आयकर अधिकारियों ने सफदरजंग एन्क्लेव, वसंत कुंज और लखनऊ सहित सान्याल की संपत्तियों पर भी छापेमारी की थी। तलाशी के दौरान अधिकारियों ने सान्याल के घर उज़्बेक की एक महिला को पाया था जिसे सान्याल ने बंदी बनाकर रखा हुआ था। सान्याल ने उस महिला का पासपोर्ट भी जब्त कर रखा था।
बता दें कि सान्याल और उज़्बेक महिला द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के आधार पर बुधवार को पुलिस ने रिटायर्ड कर्नल अजय अहलावत को हिरासत में ले लिया था, लेकिन पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया था। फिलहाल अजय अहलावत फरार बताया जा रहा है।
महिला ने आरोप लगाया है कि सान्याल ने उसे हाई प्रोफाइल मेहमानों की आवभगत करने के लिए रखा था। उसने कहा कि बड़े-बड़े बिजनेस मैन (हथियार सौदागरों), नेताओं और यहां तक कि सेना के अधिकारियों सहित हाई प्रोफाइल हस्तियों को खुश करने के लिए मुझे यहां जबरदस्ती रखा गया है।
गौरतलब है कि सान्याल के घर पर छापेमारी के दौरान पुलिस को सांसदों के जाली लेटरहेड भी मिले। सान्याल ने कानूनी कार्यवाई से बचने के लिए यूपी से समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल से भी संपर्क किया। पुलिस को सान्याल के घर से मध्य एशिया की महिलाओं के दर्जनों फोन नंबर और कई पासपोर्ट भी मिले हैं।
पिछले महीने इनकम टैक्स की छापेमारी के दौरान उज़्बेक महिला ने अपनी कलाई काट ली थी। डीसीपी ईश्वर सिंह ने कहा, 'मैसेज से सान्याल और उसके साथियों के बीच विदेशी महिलाओं से संबंधित वित्तीय लेन-देन का पता चलता है। उज़्बेक महिला ने बताया कि सान्याल से उसकी मुलाकात अजय अहलावत ने करवाई थी।'
पुलिस का कहना है कि अजय अहलावत की सलिंप्तता की जांच की जा रही है।
महिला ने आइटी डिपार्टमेंट से शिकायत करते हुए न्याय की गुहार लगाई है। उसे बचाने के लिए धारा 370 और 370 ए (तस्करी और शोषण), 341 (गलत तरीके से संयम), 342 (गैरकानूनी कारावास), 419 (प्रतिरूपण द्वारा धोखाधड़ी) के तहत एक प्राथमिक याचिका दायर की है। 120 बी ( भारतीय दंड संहिता की आपराधिक साजिश) धरा के तहत भी मुकदमा दर्ज किया गया है।
गौरतल है कि सान्याल को दिल्ली की एक अदालत में पेश किया गया है। फिलहाल प्लोस उसके फोन रिकॉर्ड, बैंक खातों और ईमेल की जांच की कर रही है। पूछताछ में सान्याल ने पुलिस को बताया कि वह लखनऊ में एक रबर टायर कंपनी में एक वरिष्ठ प्रबंधक का काम करता था बाद में उसने दिल्ली में दो कंसलटेंसी कंपनियों की स्थापना की थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top