Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्वच्छता अभियान को एमसीडी दिखा रही ठेंगा

स्वच्छता अभियान के लिए स्वीकृत धनराशि को एमसीडी ने छूआ तक नहीं।

स्वच्छता अभियान को एमसीडी दिखा रही ठेंगा
नई दिल्ली. देश को स्वच्छ करने की दिशा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान को भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम ही बट्टा लगा रहे हैं। दिल्ली को साफ व स्वच्छ बनाने के लिए केंद्र के तरफ से वर्ष 2014-19 के दौरान 360.01 करोड़ स्वीकृत किए गए लेकिन एमसीडी तय समय में पर्याप्त बजट भी इस्तेमाल नहीं कर पाई।
वहीं उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) ने तो इस धनराशि को छूआ तक नहीं। बता दें कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत दिल्ली को वर्ष 2014-19 के दौरान 360.01 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा। इसमें से मई 2016 में दिल्ली को 139.60 करोड़ रुपये दिए गए।
सेंटर फॉर सोशल स्टडी की ताजा रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2015-16 के दौरान उत्तरी दिल्ली नगर निगम 46.28 करोड़ रुपए दिए गए। वर्तमान में इस धनराशि का इस्तेमाल नहीं किया गया। दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) को 31.63 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया, लेकिन इसमें से मात्र 0.25 फीसदी (7.93 लाख रुपये) धनराशि ही खर्च की गई।
रिपोर्ट के अनुसार स्वच्छ भारत अभियान के तहत इस धनराशि को खर्च करने के लिए शहरी स्थानीय निकाय के लिए दिशा-निर्देश दिए गए थे। बावजूद इसके एमसीडी ने इस अभियान को साकार करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई। हालांकि, दिल्ली में स्थानीय निकाय के पास जल आपूर्ति और सीवेज डिपार्टमेंट ही है। इसके साथ ही स्लम और जेजे क्लस्टर भी स्थानीय निकाय के अंदर नहीं आता है। इस संबंध में दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एमसीडी हर बार फंड के लिए पहुंच जाता है, लेकिन उन्हें मिलने वाले फंड का उचित इस्तेमाल नहीं करते। लोग एमसीडी के कार्यों से परेशान हैं।
बेहतर है डूसिब
दिल्ली के स्लम क्षेत्रों में काम करने वाला दिल्ली सरकार का विभाग दिल्ली शहरी आर्शय सुधार बोर्ड (डूसिब) एमसीडी की तुलना में कई ज्यादा बेहतर है। डूसिब को स्टेट मिशन निदेशालय ने 51 करोड़ रुपए स्थानांतरित किए। मई 2016 तक डूसिब को 36.5 फीसदी धनराशि का भुगतान किया गया था। जिसके तहत दिल्ली में 1982 टॉयलेट का निर्माण किया जाना था। लेकिन राजधानी में इस लक्ष्य को बढ़ाकर 4656 कम्यूनिटी टॉयलेट्स के निर्माण का लक्ष्य रखा गया, जिसमें से अधिकांश कम्यूनिटी टॉयलेट्स का निर्माण डूसिब ने पूरा कर दिया है। जबकि कई टॉयलेट्स पर काम चल रहा है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top