Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आत्महत्या की कोशिश नहीं माना जाएगा अपराध: राज्यसभा

नड्डा ने कहा कि मानसिक रोगियों के इलाज के लिए योग्य कर्मचारियों की कमी है।

आत्महत्या की कोशिश नहीं माना जाएगा अपराध: राज्यसभा
X
नई दिल्ली. राज्यसभा में सोमवार को मेंटल हेल्थ केयर बिल पास हो गया है। इसके तहत अब आत्महत्या करना अपराध की श्रेणी में नहीं माना जाएगा। मानसिक स्वास्थ्य विधेयक 2013 कहता है कि आत्महत्या की कोशिश करने वाला तब तक अपराधी नहीं होगा जब तक ये साबित ना हो जाए कि सुसाइड की कोशिश करते वक्त वो शख्स मानसिक रूप से स्वस्थ था। उसे आइपीसी की धारा 309 के दंडित नहीं किया जा सकेगा।
नड्डा ने कहा कि मानसिक रोगियों के इलाज के लिए योग्य कर्मचारियों की कमी है। लेकिन मेडिकल की पढ़ाई में इसके लिए सीटें बढ़ाई गई हैं। उन्होंने इस विधेयक को प्रगतिशील बताते हुए कहा कि पहले कानून में नियमन पर ध्यान दिया गया था, लेकिन इस संशोधित विधेयक में मरीजों की सुविधा पर ध्यान केंद्रित किया गया है। उन्होंने कहा कि नए प्रावधानों के तहत मरीजों को आवश्यकता के अनुरूप उपचार किया जाएगा। महिलाओं एवं बच्चों के इलाज के लिए अलग से व्यवस्था की जाएगी।
विधेयक पर हुयी चर्चा में सत्ता पक्ष सहित विभिन्न दलों के सदस्यों ने मानसिक रोग से पीड़ित लोगों को बेहतर स्वास्थ्य देखरेख और सेवा प्रदान किए जाने की जरूरत पर बल दिया। चर्चा शुर होने से पहले कांग्रेस के टी सुब्बारामी रेड्डी ने व्यवस्था का प्रश्न उठाते हुए कहा कि विधेयक में 134 संशोधन लाये गये हैं और उन्होंने जानना चाहा कि क्या एक नया विधेयक तैयार किया जा सकता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story