Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जंतर-मंतर पर भीम आर्मी का प्रदर्शन, चंद्रशेखर की रिहाई की मांग की

भीम आर्मी ने जातीय हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए संगठन के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को रिहा करने की मांग की।

जंतर-मंतर पर भीम आर्मी का प्रदर्शन, चंद्रशेखर की रिहाई की मांग की

भीम आर्मी के बैनर तले आज दिल्ली की सडकों पर बडी संख्या में दलित युवक उतरे और उत्तर प्रदेश में हुई जातीय हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए संगठन के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को रिहा करने की मांग की। पिछले एक महीने से कम समय में दूसरी बार इस तरह का प्रदर्शन हुआ।

संसद मार्ग पुलिस स्टेशन और नई दिल्ली नगरपालिका परिषद सम्मेलन केंद्र के बीच का रास्ता नीले रंग में रंग गया और 'जय भीम ' के नारों से गूंज उठा। सुबह दस बजे से उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब के प्रदर्शनकारी जमा हो गए थे।

कमलेश देवी ने मीडिया को बताया कि मैं अपने बेटे को रिहा किए जाने तक प्रदर्शन करुंगी, धरने पर बैठूंगी और साथ ही अनिश्चितकालीन उपवास करुंगी। हम लडेंगे। मुझे नरेंद्र मोदी सरकार या उत्तर प्रदेश सरकार से कोई उम्मीद नहीं है, खासकर इसलिए क्योंकि योगी आदित्यनाथ के उदय के साथ ही हिंसा शुरु हुई।

21 मई के प्रदर्शन की ही तरह आज भी एक के बाद एक वक्ताओं ने सामाजिक आंदोलन को राजनीति से दूर रखने और बसपा जैसे राजनीतिक दलों के दलित मुद्दे का दोहन करने की बात पर जोर दिया। 21 मई के प्रदर्शन में इससे भी ज्यादा लोग जमा हुए थे।

कौर ने कहा कि बसपा प्रमुख मायावती ने मेरे भाई के काम पर अपना पूरा करियर बनाया। यह युवाओं के नेतृत्व में शुरु हुआ एक नया आंदोलन है। जहां भी अन्याय होगा, युवा खडे होंगे।

हालांकि प्रदर्शन के दौरान संगठन के सदस्यों में मतभेद दिखे जब आयोजकों ने एक सदस्य को मंच से हटाते हुए उसपर आंदोलन को हाईजैक करने का आरोप गाया। आयोजकों ने संघर्ष में मारे गए लोगों के लिए धनराशि भी जुटायी और लोगों को दान में दी गयी उनकी राशि के हिसाब से बोलने के लिए समय दिया गया।

Next Story
Top