Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नर्सरी दाखिला: प्राइवेट स्कूलों में गरीब बच्चों को मिलेगी मुफ्त यूनिफॉर्म और कॉपी-किताब

ईडब्ल्यूएस कोटे की गलत जानकारी देने वाले प्राइवेट स्कूलों पर होगी एफआइआर दर्ज

नर्सरी दाखिला: प्राइवेट स्कूलों में गरीब बच्चों को मिलेगी मुफ्त यूनिफॉर्म और कॉपी-किताब
नई दिल्ली. ईडब्ल्यूएस (EWS) एडमिशन को लेकर सरकार को गलत जानकारी देने वाले प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होगी। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने ये निर्देश दिए। प्राइवेट स्कूलों में ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के बच्चों के एडमिशन ठीक से हुए हैं या नहीं, ये जानने के लिए दिल्ली सरकार ने डिप्टी डायरेक्टर एजुकेशन (डीडीई) की अगुवाई में इंस्पेक्शन कराए। इसके बाद उप-मुख्य मंत्री मनीष सिसोदिया ने बारी-बारी से इन सभी स्कूलों की इंस्पेक्शन रिपोर्ट पर चर्चा की।
कुछ स्कूलों ने सरकार को गलत जानकारियां मुहैया कराई
समीक्षा बैठक में ये बात सामने आई कि कुछ स्कूलों ने सरकार को गलत जानकारियां मुहैया कराई हैं। प्राइवेट स्कूलों को ईडब्ल्यूएस कोटे के तहत 25 फीसदी एडमिशन करने होते हैं। कुछ स्कूलों ने निर्धारित 25 फीसदी सीटों पर ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के बच्चों को एडमिशन नहीं दिए हैं और सरकार को गलत सूचनाएं दी हैं। उप-मुख्य मंत्री मनीष सिसोदिया ने निर्देश दिया कि सरकार को जानबूझकर गुमराह करने वाले और फर्जी आंकड़े देने वाले स्कूलों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित आईपीसी की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया जाए।
अफसरों की टीम ने मौके पर करवाए एडमिशन
इंस्पेक्शन पर गई अफसरों की टीम ने मौके पर करवाए एडमिशन प्राइवेट स्कूलों में इंस्पेक्शन पर कई अफसरों की टीम ने दस्तावेजों की छानबीन की और देखा कि 25 फीसदी बच्चों के एडमिशन हुए हैं या नहीं। सरकार की तरफ से स्कूलों को ईडब्ल्यूएस एडमिशन के लिए दी गई लिस्ट के साथ मिलान करने पर पता चला कि कुछ स्कूलों में कुछ बच्चों के एडमिशन नहीं हो पाए हैं। इसके बाद अफसरों ने उन बच्चों के पैरेंट्स को बाकायदा फोन करके स्कूलों में बुलवाया और इच्छुक पैरेंट्स के बच्चों का मौके पर ही एडमिशन करवाया।
गरीब बच्चों को देना होगा यूनिफॉर्म और कॉपी-किताब
सरकार की तरफ से सभी प्राइवेट स्कूलों को निर्देश जारी किया गया कि जिन स्कूलों ने अभी तक ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के बच्चों को यूनिफॉर्म, किताबें और स्टेशनरी इत्यादि मुहैया नहीं कराया है, वे जल्द से जल्द मुहैया करा दें। स्कूलों द्वारा अब तक ये सब मुहैया न कराने की स्थिति में अगर पैरेंट्स ने अपने बच्चों के लिए यूनिफॉर्म, किताबें और स्टेशनरी खरीद लिया है तो स्कूल, पैरेंट्स को उसके पैसे वापस (reimburse) करेंगे।
400 स्कूलों को ज्यादा फीस लौटाने के आदेश
दिल्ली सरकार ने 400 से ज्यादा स्कूलों को बढ़ी हुई फीस लौटाने के आदेश जारी किये हैं। इन्हें 15 दिन के भीतर ये रकम पैरेंट्स को लौटानी होगी। हर साल ज्यादातर प्राइवेट स्कूल मनमाने तरीके से 10 से 25 फीसदी तक अपने यहां फीस बढ़ा देते हैं। लेकिन इस साल सरकार की सख्ती से उन्हें फीस घटानी पड़ रही है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top