Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छात्राओं के गुप्‍तांगों पर दि‍ल्‍ली पुलि‍स ने बरसाई लाठि‍यां, पढ़ि‍ए पूरी खबर, देखि‍ए तस्‍वीरें

केवल यही नहीं छात्रों को गिरफ्तार कर बस में भी पीटा गया।

छात्राओं के गुप्‍तांगों पर दि‍ल्‍ली पुलि‍स ने बरसाई लाठि‍यां, पढ़ि‍ए पूरी खबर, देखि‍ए तस्‍वीरें
नई दिल्ली. छात्र शिक्षा के बचाव को लेकर एमएचआरडी के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर दिल्ली पुलिस ने छात्रों पर जमकर लाठीचार्ज किया। बता दें कि ये छात्र उच्च शिक्षा में वार्षिक वृद्धि दर को लेकर अपने अधिकार की मांग कर रहे थे। लेकिन भीड़ को काबू करने के लिए दिल्ली पुलिस ने छात्रों पर आसू गैस के गोल, पानी की बौछार और उसके बाद उन पर लाठीचार्ज किया।

EVEN-ODD फॉर्मूले में दखलंदाजी नहीं करेगा दिल्ली हाईकोर्ट, 23 दिसंबर को होगी अगली सुनवाई


इस आंदोलन में कई जगहों से छात्र और छात्राएं पहुंचे थे जो अपनी मांग के लिए इस प्रदर्शन में शामिल हुए थे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने छात्राओं के गुप्तांगों पर लाठीयां भांजी और उन्हें गिरफ्तार करने के बाद उन्हें बस में ले जाकर जमकर पीटा । जो पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़ा करती है।

प्याज के थोक मूल्य घटने से किसानों को नुकसान, महाराष्ट्र सरकार ने की एमईपी हटाने की मांग

इस लाठीचार्ज में घायल हुई पीड़िता अनुभूति का कहना है कि अपनी मांगों को लेकर वो संसद मार्च कर रहे थे लेकिन रास्त में ही पुलिस ने सभी को आगे जाने से रोक दिया। उनका कहना है कि वो अपना विरोध शांति पूर्ण तरीके से कर रहे थे लेकिन पुलिस ने अचानक से छात्रों पर पानी की बौछार कर लाठीचार्ज कर दिया। उनका कहना है कि पुलिस वालों ने छात्राओं को जमकर पीटा। जिसमें वो सभी घायल हो गए है और सरकार ने अभी तक उनके बारे में कोई जानकारी नहीं ली है।

इसे भी पढ़ें: रिश्वत के आरोप में दिल्ली सरकार का वरिष्ठ अधिकारी गिरफ्तार, सीबीआई की पूछताछ जारी

गौरतलब है कि उच्च शिक्षा में वार्षिक वृद्धि दर लगभग 18 प्रतिशत है। विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए उन पर आँसू गैस का गोले दागे। इसी बीच एक गोला एक छात्र को सीधे छाती पर जाकर लगा, इससे उसकी जान जाते-जाते बची। विरोध प्रदर्शन के दौरान आंदोलन का नेतृत्व कर रही अंशु कुमार, अपराजिता राजा, अमृता पाठक, अनुभूति और अन्य कई छात्राओं को चोट पहुंची है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में सुबह 8 से रात 8 बजे तक लागू होगा कारों के लिए सम-विषम फॉर्मूला: केजरी सरकार

बता दें कि ये घटना दिल्ली में हुई दामनी घटना के बाद की सबसे बड़ी घटना है। जिसमें महिलाओँ पर एक बार फिर से पुलिस ने अपनी दादागिरि दिखाई और पुरूष पुुलिस ने महिलाओं को बहुत बुरी तरह पीटा है। लेकिन एक तरफ सरकार कहती है कि वो महिलाओं के साथ है लेकिन दूसरी तरफ है पुलिस का महिलाओँ पर अत्याचार।

नीचे की स्लाइड्स में देखें प्रदर्शन की तस्वीरें-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top