Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हसीनाएं काटती हैं मेट्रो में सबसे ज्यादा जेब, 438 पकड़ी गईं

सीआरपीएफ ने 479 जेबकतरों को पकड़ा, जिनमें से 438 महिलाएं थीं

हसीनाएं काटती हैं मेट्रो में सबसे ज्यादा जेब, 438 पकड़ी गईं
नई दिल्ली. मेट्रो में भी ऐसे गुट हैं जो चोरियां करता है। जिसमें ज्यादातर महिलाएं हैं। अगर आप भी हर रोज मेट्रो में सफर करते हैं तो सावधान हो जाएं। क्योंकि कभी भी आपकी जेब पर कट सकती है।
जी हां, पिछले कुछ सालों की तरह इस बार भी दिल्ली मेट्रो में पकड़े गए जेबकतरों में ज्यादातर महिलाएं हैं। सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रही सीआरपीएफ ने 479 जेबकतरों को पकड़ा, जिनमें से 438 महिलाएं थीं।
TOI की रिपोर्ट के अनुसार, ये आंकड़े दिसंबर तक के हैं। मेट्रो में जहां रोजना करीब 26 लाख लोग सफर करते हैं, सीआइएसएफ की तरफ से करीब सौ से ज्यादा बार अभियान चलाए गए ताकि ऐसी जेबकतरों को पकड़ा जा सके। ये जेबकतरें भीड़-भाड़ वाली जगह को ही निशाना बनाते हैं। मेट्रो में ये ज्यादा भीड़ वाले कोच में चढ़ते हैं जिससे इन्हे चोरी करने में आसानी होती है।
एक सीनियर अधिकारी ने बताया, "जांच में यह पता चला है कि ऐसी महिलाएं वारदात को अंजाम देने के लिए या तो वह एक बच्चे को अपने साथ लेकर चलती हैं ताकि किसी को शक ना हो या फिर ग्रुप में चलती हैं और सफर के दौरान पर्स या फिर दूसरे कीमती सामान पर अपना हाथ साफ कर जाती है। इस बात से कई फर्क नहीं पड़ता है कि सामनेवाला पुरूष है या फिर महिला।"
हाल ही में सीआइएसएफ ने एक ऐसे कुख्यात महिला गैंग का पर्दाफाश किया जिन्होंने भारतीय मूल की अमेरिका में रहनेवाली महिला के ज्वैलरी और बेशकीमती सामान लूटे थे। वह महिला दिल्ली मेट्रो में अपने पति के साथ सफर कर रही थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top