Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लाल किले पर 1000 हाई-डेफिनेशन कैमरों से होगी सुरक्षा

15 अगस्त के दिन सुबह पांच बजे से लेकर 11 बजे तक लाल किला इलाके को नो फ्लाइंग जोन घोषित किया गया है।

लाल किले पर 1000 हाई-डेफिनेशन कैमरों से होगी सुरक्षा
नई दिल्ली. स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी हमले के खतरे को देखते हुए इस बार लाल किला एवं आसपास के एरिया की सुरक्षा गत वर्षों के मुकाबले ज्यादा पुख्ता की जा रही है। यह पहली बार है कि 1000 हाई डेफिनेशन सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिनसे तिनके को भी देखा जा सकता है। इसके अलावा 15 अगस्त के दिन सुबह पांच बजे से लेकर 11 बजे तक लाल किला इलाके को नो फ्लाइंग जोन घोषित किया गया है। इस दौरान अगर कोई भी विमान लाल किले के ऊपर से उड़ा उसे गिरा दिया जाएगा। सुरक्षा के मद्देनजर पतंगबाजी पर भी रोक लगाई गई है। करीब 15 हजार जवान इस बार सुरक्षा में तैनात रहेंगे।
इस बार 15 अगस्त का जश्न पहले के मुकाबले अधिक रोमांचकारी नजर आने वाला है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर सप्ताह भर तक आजादी की धूम देश में रहेगी। इसके अलावा एक और बात इस बार के जश्न को बढ़ा रही है और वो है स्वतंत्रता के 70 साल पूरे होना। इसी के चलते कहीं न कहीं सुरक्षा एजेंसियां भी अधिक अलर्ट है। आतंकवादी हमले का खतरा हमेशा ही ऐसे मौकों पर मंडराता है। किसी भी आतंकी हमले से निपटने के लिए इस बार करीब 15 हजार सुरक्षा बलों को लाल किला और इसके आसपास के इलाकों में तैनात किया गया है। कुल पांच सुरक्षा घेरे होंगे जिसमें पहला और सबसे बाहर का सुरक्षा घेरा दिल्ली पुलिस संभालेगी।
बाहरी सुरक्षा घेरे में दिल्ली पुलिस के आठ हजार जवान तैनात रहेंगे। इसके अलावा चौथा और तीसरा सुरक्षा घेरा अर्ध सैनिक बलों के हवाले रहेगा। दूसरा और पहला सुरक्षा घेरा स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप संभालेगा। इस घेरे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहेंगे। इसके अलावा किसी भी हवाई हमले से निपटने के लिए आसपास की ऊंची इमारतों पर विमानभेदी गन तैनात की गई हैं। आपात स्थिति से निपटने के लिए आसपास की इमारतों पर 200 से अधिक एनएसजी और दिल्ली पुलिस के कमांडो तैनात किए जाएंगे।
एनएसजी द्वारा प्रशिक्षित 80 पैरा ग्लाइडिंग शूटर भी सुरक्षा में लगाए गए हैं। खुफिया एजेंसियों ने इस बार ड्रोन से हमले की सूचना दी है। इसलिए ड्रोन हमलों से निपटने के लिए विशेष तौर पर शूटर तैनात किए गए हैं। लाल किला और इसके आसपास के तीन किलोमीटर तक के इलाके में कुल 2500 हजार सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इनकी फुटेज देखने के लिए एक बड़ा कंट्रोल रूम बनाया गया है। वहां 24 घंटे पुलिसकर्मियों की तैनाती रहेगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top