Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

2 करोड़ रुपए बदलवाने के चक्कर में कारोबारी को बदमाशों ने लूटा

आरोपियों ने कारोबारी को बैंक मैनेजर से सेटिंग का हवाला देकर झांसे में लिया था।

2 करोड़ रुपए बदलवाने के चक्कर में कारोबारी को बदमाशों ने लूटा
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोटों को कागज के टुकड़े में बदलने के ऐलान के बाद से लोगों में अपने-अपने नोटों को बैंक खातों में जमा कराने के लिए होड़ सी मची है। लोग बैंक के बाहर लंबी-लंबी कतारों में लग कर अपने पैसे जमा करने में लगे हैं। इस बीच कुछ लोग पैसे जमा कराने आए कारोबारियों से भी पैसे ऐठने के चक्कर में लगे हुए हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमें कुछ बदमाशों ने पुराने नोट बदलवाने के बहाने एक रियल एस्टेट कारोबारी को 2 करोड़ का चूना लगा दिया।
बैंक मैनेजर से सेटिंग का हवाला देकर झांसे में लिया
दरअसल पूरा मामला यह है कि आरोपियों ने कारोबारी को बैंक मैनेजर से सेटिंग का हवाला देकर झांसे में लिया था, मगर आरोपी रकम लेकर चंपत हो गए। ठगी का अहसास होने पर कारोबारी ने नॉर्थ वेस्ट डीसीपी को कंप्लेंट दी। केशवपुरम थाने में आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस टीमें आरोपियों की तलाश में संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही हैं।
कारोबारी ने अपने बिजनेस पार्टनर को रकम के बारे में बताया था
एनबीटी की खबर के मुताबिक, सीनियर पुलिस अफसरों ने बताया कि रीयल एस्टेट कारोबारी कपिल मेहता परिवार समेत पार्क प्लेस, डीएलएफ गुड़गांव में रहते हैं। उन्होंने बयान दिया कि 500 और 1000 के नोट बंद होने पर उन्होंने अपने बिजनेस पार्टनर को रकम के बारे में बताया था। पार्टनर ने भरोसा दिया कि उनके कुछ जानकार हैं, जो 2 करोड़ रुपए को एक नया अकाउंट खुलवाकर बैंक में जमा करवा देंगे। उनके पास फोन आ जाएगा। 18 नवंबर को फोन पर बात हुई। उन्हें ललित वर्मा उर्फ पुष्पिंदर खारी नामक शख्स से मिलने के लिए दिल्ली में त्रिनगर स्थित रामपुर विलेज में बुलाया गया। वह वहां करीब साढ़े दस बजे पहुंचे। मध्यस्थ भी शामिल थे।
सरकारी बैंक मैनेजर से अच्छे रिलेशन
पुष्पिंदर ने दावा किया कि उसके एक सरकारी बैंक मैनेजर से अच्छे रिलेशन हैं, काम हो जाएगा। अगले दिन पुष्पिंदर ने कार के जरिए 2 करोड़ रुपए मंगवाए। बैंक चलने की बात कहकर पुष्पिंदर खारी और उसके साथ चार लोग चल दिए। रास्ते में जाम लगा होने और बैंक में अधिक भीड़ की बात कहकर वापस पुष्पिंदर खारी अपने घर पर ले गया। रास्ते में उसने फोन पर किसी से बात की, जिसके बाद उसने बताया कि बैंक मैनेजर ने कहा है कि अभी भीड़ बहुत है। शाम को जब सभी चले जाएंगे तो बैंक में बुलाकर कैश जमा करवा देंगे। तब तक रकम घर में रखवा दी जाए। आरोप है कि वे उन्हें घर ले गए। वहां पर दो लड़के मिले, जिन्होंने दावा किया कि उनके पास बैंक मैनेजर की कॉल आई है। बैंक के कामकाज से फारिग होकर वहीं बुलाएंगे। रकम उन लड़कों के हवाले कर दी।
कारोबारी उसके घर पर बैठे इंतजार करते रहा
दोपहर को पुष्पिंदर के साथ सभी ने लंच किया। उसके बाद वह गायब हो गया। कारोबारी उसके घर पर बैठे इंतजार कर रहे थे। उन्होंने खारी के बारे में पूछा तो बताया गया कि वह डॉक्टर के पास पिता का चेकअप कराने गए हैं। कुछ मिनट बाद पिता वहीं घूमते दिखाई दिए। शक गहराया तो फिर पूछा। बताया गया कि वाइफ का चेकअप कराने गए हैं। शाम को करीब साढ़े छह बजे खारी लौट कर आया। आते ही कपिल मेहता ने रकम के बारे में पूछा तो वह भड़क गया। कपिल ने अपनी रकम वापस मांगी तो उसने कहा कि 2 करोड़ रुपये बैंक में पहुंच चुके हैं, अब मुश्किल है। अगले दिन कपिल मेहता को किसी काम से हरिद्वार जाना पड़ा। उन्होंने अपने जानकार को भेजा। पता चला कि सभी आरोपी वहां से फरार हैं। 21 नवंबर को कपिल लौटकर आए। आरोपियों के मोबाइल और संपर्क के अन्य माध्यम बंद मिले। उन्होंने पुष्पिंदर खारी, नीरज गर्ग, मंजर आलम, हेमंत मिश्रा, सुभाष सिंघा के खिलाफ केस दर्ज कराया है। मामले की जांच की जा रही है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top