Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एंटी टेररिस्ट फोरम तैयार करेगा ''मुस्लिम राष्ट्रीय मंच'', मुस्लिम युवाओं की होगी काउंसिलिंग

ट्रेनर गांव-गांव जाकर मुस्लिम युवाओं की काउंसिलिंग करेंगे

एंटी टेररिस्ट फोरम तैयार करेगा
नई दिल्ली. आरएसएस से जुड़ा संगठन 'मुस्लिम राष्ट्रीय मंच' आंतकवाद के खिलाफ एंटी टेररिस्ट यूथ फोरम का गठन करेगा। यह फैसला मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के नागपुर में चल रहे सम्मेलन में लिया है। तीन दिन का यह सम्मेलन सोमवार तक चलेगा और मंच सोमवार को इस फोरम का भी ऐलान करेगा।
नौजवान लड़कों को जोड़ा जाएगा
मंच के नैशनल कनवीनर मोहम्मद अफजाल ने इस फैसले की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एंटी टेररिस्ट यूथ फोरम बनाकर इसमें नौजवान लड़कों को जोड़ा जाएगा। उन राज्यों से इसका काम शुरू किया जाएगा जहां आइएसआइएस जैसे संगठन के लोग काम कर रहे हैं और मुस्लिम युवाओं को बरगला रहे हैं। हमने कुछ स्टेट आइडेंटिफाई किए हैं। जिनमें जम्मू-कश्मीर, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और असम हैं। इन राज्यों में आंतकी संगठनों के लोग युवाओं के मन में जहर घोलने का काम कर रहे हैं और उन्हें इस्लाम के नाम पर गलत बातें बता रहे हैं।
एक्सपर्ट्स की मदद से ट्रेनर्स तैयार करेंगे
अफजाल ने कहा कि इस यूथ फोरम के जरिए हम गांव-गांव तक जाकर मुस्लिम युवाओं की काउंसिलिंग करेंगे। पहले मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के लोग इस्लाम के एक्सपर्ट्स की मदद से कुछ ट्रेनर्स तैयार करेंगे। उनकी काउंसिलिंग होगी और उन्हें बताया जाएगा कि आईएसआईएस और दूसरे आतंकी संगठन जो काम कर रहे हैं वह गैर इस्लामिक हैं। उनका महजब से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि हम जरिए जो ट्रेनर तैयार करेंगे वह आगे जाकर काउंसिलिंग करेंगे। इस तरह ये ट्रेनर गांव-गांव जाकर मुस्लिम युवाओं की काउंसिलिंग करेंगे और उन्हें आतंक की राह में जाने से रोकेंगे। साथ ही बताएंगे कि अगर कोई उन्हें मजहब के नाम पर हिंसा के लिए उकसाता है तो उसका विरोध करें।
1851 जगह हुआ आयत-ए-करीमा का पाठ
सम्मेलन में मंच के आगे के कार्यक्रम की रूपरेखा बनाई जा रही है साथ ही अब तक किए कामों का लेखा जोखा भी पेश किया जा रहा है। मंच ने पिछले दिनों देश की तरक्की के लिए आयत-ए-करीमा का पाठ किया था। सम्मेलन में बताया गया कि यह देश में 1851 जगहों पर किया गया और इसमें 76 हजार से ज्यादा लोगों ने शिरकत की।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top