Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

3 साल की मासूम की ''मांझे'' से कटी गर्दन, हुई मौत

जब मांझा बच्ची के गर्दन पर फंसा उस वक्त बच्ची कार से बाहर झांक रही थी।

3 साल की मासूम की
नई दिल्ली. 15 अगस्त के मौके पर एक तरफ लोग पतंगे उड़ाकर खुशियां मना रहे थे, वहीं दूसरी तरफ पतंग के मांझे की वजह से खुशियां मातम में बदल गई। मांझे ने कई लोगों जान ले ली। बता दें कि मांझे से हाल ही में तीन लोगों की मौत हो चुकी है। जिसमें एक घटना दिल्ली के रानीबाग का है जहां एक होंडा सिटी पर सवार 3 साल की बच्ची की मांझे से गर्दन कटने से दर्दनाक मौत हो गई।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, जब ये बच्ची कार की खिड़की से छांक रही थी उस दौरान पतंग का मांझा उसके गर्दन पर लग गया। उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। मृत बच्ची का नाम सांची है। सांची के परिवार वालों का कहना है कि वह कार से अपनी बच्ची के साथ फिल्म देखकर वापस आ रहे थे। सांची अपनी मां की गोद में बैठी हुई थी और बेहद खुशी से बाहर उड़ते हुए पतंगो को देख रही थी, लेकिन जब मांझा उसकी गर्दन में फंसा तब उसके माता-पिता को भनक भी नहीं पड़ी कि उनकी मासूम बच्ची के साथ ये घटना घटी है। लेकिन जब बच्ची अपनी मां के गोद में खून से लतपथ गिरी उस वक्त वे दोनों हक्के बक्के रह गए क्योकि मांझा उसकी गर्दन पर अटका हुआ था। वह बच्ची की हालत को देखकर फौरन अस्पताल के लिए निकल गए। डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची की रास्ते में ही मौत हो चुकी थी।
नॉर्थ वेस्ट के डीसीपी विजय सिंह ने बताया कि रानीबाग के पुलिस ने परिवार की लापरवाही का केस दर्ज किया है। उनका कहना है कि मांझे की वजह से अब तक कई घटनाएं घट चुकी हैं। ये कोई पहली घटना नहीं है इससे पहले भी पतंग उड़ाते हुए छत से गिरने, करंट लगने जैसे हादसे सामने आते रहते हैं। डीसीपी के मुताबिक, जब तक सुरक्षा को ध्यान में नहीं रखा जाएगा तब तक इस तरह की घटनाएं घटती ही रहेंगी। इसलिए इस तरह के हादसों को खत्म करने के लिए बेहतर होगा कि सुरक्षा को पहली प्राथमिकता दी जाए।
बता दें कि इस घटना के एक दिन पहले यानि 14 अगस्त के दिन भी एक शख्स की मांझे से गला कटने की वजह से मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि ये शख्स बाइक में सवार था। पुलिस ने यह भी कहा बीते दिन में मांझे ने कई लोगों को घयल तो किया साथ ही कई लोगों की जान भी ले ली।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top