Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जल्द स्थापित होगी गढ़वाली-कुमाऊंनी अकादमी: मनीष सिसोदिया

इस मौके पर छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पेशकर उत्तराखंडी संस्कृति से लोगों को रूबरू कराया।

जल्द स्थापित होगी गढ़वाली-कुमाऊंनी अकादमी: मनीष सिसोदिया
नई दिल्ली. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित उत्तरैणी-मकरैणी सम्मेलन में कहा कि उत्तराखंड की भाषा और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए ‘गढ़वाली-कुमाऊंनी अकादमी’ को दिल्ली में जल्द ही स्थापित किया जाएगा। सिसोदिया ने कहा कि लोकपाल के लिए उत्तराखंड के लोंगों ने ऐतिहासिक सपोर्ट किया है, आम आदमी पार्टी हमेशा उत्तराखंडी समाज के साथ है। हमारी सरकार ने पिछले साल चार स्थानों पर उत्तरैणी-मकरैणी का आयोजन किया था।
इस मौके पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक संदेश के जिरये कहा कि केंद्र सरकार हर तरह से उत्तराखंडियों के साथ हैं। भाषाओं की अकादमी के संबंध में जल्द ही खुशखबरी दी जाएगी। इस अवसर पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने भी फोन के जरिए लोगों को संबोधित करते हुए कहाकि कांग्रेस सरकार हर संभव लोगों की मदद को तैयार है।
इस मौके पर विनोद बछेती ने कहा कि उत्तराखंड बनने के 16 वर्षों बाद भी प्रदेश की स्थिति जस की तस बना हुई है। लगातार सरकार की अनदेखी के चलते पहाड़ के लोग अपने घर और जमीन को छोडऩे को मजबूर हैं। केवल दिल्ली में ही प्रवासी उत्तराखंडियों की संख्या करीब 35 से 40 लाख है पर उनकी भाषाओं की न तो अकादमी है न ही उनके त्योहारों व लोक परंपराओं की कोई मान्यता। अब जरूरत है एकजुट होकर सोयी हुई सरकार को हम जाएंगे। इस मौके पर शशि मोहन ने कहा कि उत्तराखंड के साढ़े तीन लाख गांव आज जन शून्य हो गए हैं। पहाड़ी जिले आज भी उसी तकलीफ में हैं जो राज्य निर्माण से पहले थी। सरकारों को चाहिए कि राजनीति से ऊपर उठकर कर प्रदेश का सर्वांगीण विकास करें।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top