Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली से लापता सोनू छह साल बाद बांग्लादेश से लौटा

सोनू का डीएनए उसकी मां मुमताज बेगम से मैच हो गया है।

दिल्ली से लापता सोनू छह साल बाद बांग्लादेश से लौटा
नई दिल्ली. करीब छह साल पहले दिल्ली से लापता हुआ सोनू बांग्लादेश में मिला है। जिसे गुरुवार को घर वापस लाया गया। विदेश मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि पीड़ित को उसके परिवार से मिलवा दिया गया है।

बीबीसी के मुताबिक, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को ही बता दिया था कि सोनू का डीएनए उसकी मां मुमताज बेगम से मैच हो गया है। परिवार अपने खोये हुए बच्चे को पाकर बहुत खुश है उनका कहना है कि ईद पर उनकी खुशियां दोगुनी हो गयी हैं।


बता दें कि 13 वर्षीय सोनू का एक महिला गैंग ने अपहरण कर लिया था। इसके बाद उसके बांग्लादेश में होने की खबर मिली, जहां उससे एक घर में नौकर के तौर पर काम करवाया जाता था। इस मामले में बांग्लादेशी पुलिस ने दो महिलाओं को गिरफ्तार किया है, जिनसे पूछताछ चल रही है।

गौरतलब है कि बांग्लादेशी नागरिक जमाल इब्न मूसा ने सोनू को उसके परिवार से मिलवाने में बड़ी मदद की है। इस मामले में मूसा 'बजरंगी भाईजान' साबित हुए हैं। मूसा ने बताया कि मेरे पड़ोस में ही अपहणकर्ता बच्चे से दिन-रात काम करवाते थे।

बांग्लादेशी अख़बार डेली स्टार को बताते हुए उन्होंने कहा कि मैंने तीन साल पहले पुलिस को इसकी जानकारी दी थी लेकिन सबकुछ जानने के बाद भी पुलिस खामोश रही। आखिर में वह सोनू को बचाने में कामयाब रहें और उसे कोर्ट के समक्ष पेश किया।


उन्होंने बताया कि अदालत ने सोनू को बाल-कल्याण गृह भेज दिया था। जिसके बाद वह सोनू के परिवार का पता ढूंढने में लग गए। सोनू द्वारा दिए गए एक अनजान पते पर मूसा ने 14 मई को दिल्ली जाने का फैसला लिया। जहां कुछ दिन बाद दिल्ली के सीलमपुर इलाके में उन्होंने उसके परिवार को ढूंढ निकाला।

सोनू की मां मुमताज बेगम ने मूसा को एक फरिश्ता बताया। उनका कहना है कि वह उनका शुक्रिया नहीं कर सकती हैं। विदेश मंत्री ने भी बांग्लादेश में बच्चे की देखभाल करने वालों के लिए आभार व्यक्त किया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top