Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एलजी-सीएम में फिर छिड़ी अधिकारों की जंग, केजरीवाल ने लिखा मोदी को पत्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि जंग ने अपने आदेश में कहा है कि केंद्र ने उन्हें दिशानिर्देश जारी करने का निर्देश दिया है

एलजी-सीएम में फिर छिड़ी अधिकारों की जंग, केजरीवाल ने लिखा मोदी को पत्र
X

नई दिल्ली. दिल्ली सरकार के अधिकारियों को सरकार के अवैध आदेशों का पालन नहीं करने की चेतावनी देते हुए उपराज्यपाल नजीब जंग द्वारा दिशानिर्देश जारी किए जाने से दोनों पक्षों में नए सिरे से टकराव की स्थिति उत्पन्न हो गई है जहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रशासन में व्याप्त भ्रम की स्थिति को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री के हस्तक्षेप की मांग की है। जंग ने गुरुवार को अपने आदेश में सभी वरिष्ठ अधिकारियों से कहा था कि अगर वे दिल्ली सरकार के उन आदेशों का पालन करते हैं जिन्हें केंद्र सरकार अमान्य घोषित करती है तो उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

50 साल में नहीं हुआ, 50 माह में होगा गरीबी का खात्माः नरेंद्र मोदी

उपराज्यपाल के आदेश को लेकर नाराज केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा कि जंग को इस तरह के दिशानिर्देश जारी नहीं करने चाहिए जिनसे प्रशासन में ऐसे समय में भ्रम की स्थिति उत्पन्न होती हो जब वह डेंगू की समस्या से निपटने के लिए संघर्ष कर रहा हो। केजरीवाल ने पीएम के हस्तक्षेप की मांग करते हुए कहा कि इस समय केंद्र और दिल्ली सरकार को डेंगू की चुनौती से निपटने में मिलकर काम करना चाहिए जो पिछले पांच साल में सबसे भयावह तरीके से फैल रहा है।

बिहार चुनाव के लिए LJP की पहली लिस्ट जारी, पासवान के 3 रिश्तेदार भी उम्मीदवार

मुख्यमंत्री ने कहा कि जंग ने अपने आदेश में कहा है कि केंद्र ने उन्हें दिशानिर्देश जारी करने का निर्देश दिया है और उन्होंने अधिकारियों को आगाह किया है कि अगर वे इसका पालन नहीं करते तो उनके वेतन में कटौती की जाएगी और अन्य कड़ी कार्रवाई की जाएंगी। केजरीवाल ने पत्र में लिखा, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी और केंद्र सरकार दोनों से हाथ जोड़कर अनुरोध करता हूं कि इस समय दिल्ली की जनता डेंगू के संकट को झेल रही है और हर जगह रोग फैल गया है। इस बार हालात पिछले पांच साल की तुलना में सबसे खराब हैं। जंग की आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस आदेश से अधिकारियों के बीच भ्रम पैदा हो गया है और इससे डेंगू से निपटने में प्रशासन के प्रयास प्रभावित होंगे।

सात फीसदी जीडीपी आर्थिक विकास के लिए पर्याप्त नहींः अरूण जेटली

नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story