Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पूर्व सैनिक खुदकुशी मामला: केजरीवाल-सिसोदिया समेत कई नेता हिरासत में, छोड़े गए राहुल

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ये लोकतंत्र की हत्या है।

पूर्व सैनिक खुदकुशी मामला: केजरीवाल-सिसोदिया समेत कई नेता हिरासत में, छोड़े गए राहुल

नई दिल्ली. वन रैंक वन पेंशन (OROP) के मुद्दे पर एक पूर्व सैनिक की खुदकुशी पर सियासी संग्राम शुरू हो गया है। सैनिकों से मिलने के लिए बुधवार को राम मनोहर लोहिया (RML) अस्पताल पहुंचे दिल्ली के डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को वहां से न हटने पर हिरासत में ले लिया गया। जहां से बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। लेकिन कुछ देर बाद राहुल गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया को कनाट प्लेस पुलिस ने फिर से हिरासत में ले लिया। दोनों को मंदिर मार्ग थाने ले जाया गया। दोनों नेता कनाट प्लेस जा रहे थे। सिंधिया ने कहा कि ये लोकतंत्र की हत्या है। पुलिस ने राहुल गांधी को छोड़ दिया है। वहीं, लेडी हार्डिंग अस्पताल से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। जहां से पुलिस केजरीवाल को आरके पुरम थाने लाई है।

पुलिसवालों के काम में डाली बाधा
राहुल को हिरासत में लिए जाने की जानकारी स्पेशल कमिश्नर एमके मीणा ने दी। उन्होंने बताया कि पूर्व सैनिक के घरवालों को भी हिरासत में लिया गया है क्योंकि वे राजनेताओं से संपर्क कर रहे थे और प्रदर्शन भी कर रहे थे। मीणा ने कहा, 'यह अस्पताल है, प्रदर्शन करने की जगह नहीं है। मना करने के बावजूद अस्पताल के अंदर घुसने की कोशिश करने की वजह से राहुल गांधी को हिरासत में लिया गया। उन्हें मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन में हिरासत में रखा गया क्योंकि वे ड्यूटी के पालन में बाधा डाल रहे थे।' मीणा ने यह भी कहा कि आप नेता परेशानी पैदा करने के लिए अस्पताल आए थे।

राहुल ने केंद्र पर लगाया आरोप
हिरासत में लिए जाने से पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रोके जाने से भड़क गए। उन्होंने केंद्र सरकार पर अलोकतांत्रिक होने का आरोप लगाते हुए कहा, ' हिंदुस्तान में पहली बार में सेना के परिवारवालों से मिलने नहीं दिया जा रहा। इस देश के इतिहास में पहली बार किसी को मिलने नहीं दिया जा रहा। ये कैसा हिंदुस्तान बनाया जा रहा है?' बाद में राहुल गांधी अस्पताल के बाहर ही डट गए। उन्होंने कहा कि पूर्व सैनिक के परिजन उनसे मिलने के लिए बाहर आ रहे हैं। वह अस्पताल के बाहर उनसे मुलाकात करेंगे। बाद में राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा, 'मैं पीएम से एक बार फिर दरख्वास्त करता हूं। वन रैंक वन पेंशन को अर्थपूर्ण तरीके से लागू करें।'
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top