Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केजरी की जनसभा में ''मोदी-मोदी'' के नारों से गूंजी सभा

दिल्ली के आजादपुर मंडी में ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल ने एक साथ केंद्र पर जोरदार हमले किए।

केजरी की जनसभा में
नई दिल्ली. जहां एक तरफ दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में जनसभा कर पीएम मोदी पर निशाना साधा तो वही दूसरी तरफ केजरीवाल की जनसभा में पीएम मोदी के जोरदार नारे भी लगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को सरकार से कहा कि वह तीन दिन के अंदर नोटबंदी के फैसले को वापस ले या फिर आम आदमी के विद्रोह का सामना करने के लिए तैयार रहे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने 500 और 1000 रुपये के नोट को अमान्य किए जाने के पीछे साजिश का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इससे देश में नकदी को लेकर अफरा-तफरी पैदा हुई है।
रैली शुरू होने से पहले ही हंगामा हो गया और उसमें मोदी विरोध के बजाय मोदी जिंदाबाद के नारे लगने लगे। प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाते हुए कहा कि नोटबंदी पर मोदी सरकार का फैसला सहीं है। इसका विरोध नहीं किया जाना चाहिए। इन समर्थकों ने केजरीवाल और ममता को काले झंडे भी दिखाए। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ममता का साथ दिया है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के चक्कर में कालाधन पनपाने का काम मोदी सरकार कर रही है। नोटबंदी से न तो भ्रष्टाचार रूकेगा और न ही कालाधन खत्म हो सकेगा। ममता बनर्जी का कहना है कि वे हिन्दुस्तान को बचाने के लिये ही मोदी सरकार से लड़ाई कर रही है।
आजादपुर मंडी में रैली के बाद ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल दिल्ली में आरबीआई के दफ्तर के सामने बैठ गए. आरबीआई के बाहर घरने पर बैठे केजरीवाल ने कुछ सवाल ट्वीट किए। केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा कि कितनी करेंसी की जरूरत है ? कितनी करेंसी प्रिंट हुई ? कितनी क्षमता है ? कितने दिन और लगेंगे ? मैं और ममता दी रिजर्व बैंक से जानकारी लेने आए हैं।
आजादपुर मंडी में रैली के दौरान ममता बनर्जी और केजरीवाल ने नोटबंदी पर मोदी सरकार को जमकर घेरा। ममता बनर्जी ने तीन दिन के भीतर नोटबंदी के फैसले को वापस लेने की मांग की, जबकि अरविंद केजरीवाल ने कहा कि नोटबंदी की आड़ में मोदी सरकार भ्रष्टाचार कर रही है। दिल्ली के सीएम ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पीएम मोदी ने उद्योगपति विजय माल्या को विदेश भेजा. माल्या पर बैंकों का भारी कर्जा है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top