Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बैंक में कतार, आम आदमी लाचार- मोदी जिम्‍मेदार: सिब्‍बल

लोग 500 और 1000 के नोट का इस्तेमाल 14 नवंबर की मध्यरात्रि तक कर सकेंगे।

बैंक में कतार, आम आदमी लाचार- मोदी जिम्‍मेदार: सिब्‍बल
नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने केंद्र सरकार द्वारा 500 और 1000 के नोटों को रातों-रात बंद किए जाने के फैसले को देश के साथ मजाक करार दिया है। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि बिना सोचे समझे देश के साथ ये मजाक हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह फैसला हताशा में लिया गया है, जो कि पूरी तरह से गलत है। सिब्बल का कहना था कि बैंक में कतार है और आम आदमी लाचार है। इसके लिए पीएम मोदी सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी की जापान यात्रा पर भी सवाल उठाए।
भाजपा पर तीखा हमला
उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब आम जनता परेशान है पीएम मोदी जापान गए हुए हैं, जबकि उन्हें यहां पर होना चाहिए था। उन्होंने पीएम से सवाल भी किया कि जब मेरे पास अकाउंट है और पैसे भी मेरे हैं तो फिर मैं लाइन में क्यों लगूं। सिब्बल से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने भी केंद्र के इस फैसले पर सवाल उठाए थे। उन्होंने भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि जो भाजपा अपने सभी कार्यक्रमों में कालेधन का उपयोग करती रही है वह अब उसके खिलाफ मुहिम चला रही है। उन्होंने मांग की कि नरेंद्र मोदी के पीएम बनने से पहले भाजपा ने अपने कार्यक्रमों में जो भी खर्च किया है उसकी जांच के लिए एक आयोग गठित किया जाना चाहिए, जिससे पार्टी की सच्चाई सामने निकलकर आ सके।
लेन-देन की छूट
गौरतलब है कि पीएम मोदी ने 9 नवंबर को टीवी पर प्रसारित अपने संदेश में रात बारह बजे के बाद से 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने का ऐलान किया था। हालांकि उन्होंने कुछ जगहों जैसे अस्पतालाें, दवाई की दुकानों, रेलवे टिकट काउंटरों समेत कुछ जगहों पर दो दिनों के लिए इन नोटों के लेन-देन की छूट देने की भी बात कही थी। इस ऐलान के तुरंत बाद ही लोगों में अफरातफरी फैल गई और एटीएम के बाहर लोगों की लंबी कतारें देखी गईं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top