Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कपिल मिश्रा का ''आप'' के खिलाफ बड़ा अभियान शुरू

कपिल मिश्रा ने कार्यकर्ताओं से कहा कि न तुम छोड़ना न मैं पार्टी नहीं छोड़ूंगा, तभी होगी पूरी सफाई।

कपिल मिश्रा का

दिल्ली के बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा ने रविवार को सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के कुछ 'भ्रष्ट' लोगों को पार्टी से बाहर करने के लिए 'लेट्स क्लीन आप' अभियान शुरू किया।

जल मंत्री के पद से बर्खास्त किए जाने के बाद पार्टी से निलंबित मिश्रा ने आप कार्यकर्ताओं से एकजुट होने और पार्टी नहीं छोड़कर जाने का आग्रह करते हुए कहा भ्रष्टचारियों पर झाड़ू चलाए जाने का वक्त आ गया है।

कपिल ने कहा वे पार्टी नहीं छोड़ेंगे लेकिन भ्रष्ट लोगों को छोड़ेंगे भी नहीं। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को पार्टी को भ्रष्ट लोगों से मुक्त कराकर इसे वापस अपने नियंत्रण में लेना है।

मिश्रा के मुताबिक, 'मैं पार्टी छोड़ चुके लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं से आग्रह करता हूं कि हमें यह पार्टी नहीं छोड़नी चाहिए, हमें इसे भ्रष्ट लोगों से वापस छीनना है। मैं 'लेट्स क्लीन आप' अभियान शुरू कर रहा हूं। मैं सभी पार्टी कार्यकर्ताओं से एकजुट होने और पार्टी को साफ करने का अनुरोध करता हूं।'

आप की क्रांति अनंत

उन्होंने कहा कि कुछ लोगों के भ्रष्ट हो जाने का यह मतलब नहीं कि 'आप' की क्रांति का अंत हो गया है। मिश्रा ने कहा कि वह इसे नहीं छोडे़ंगे और नई पार्टी भी नहीं बनाएंगे।

मिश्रा ने यह भी कहा कि संजय सिंह, आशीष खेतान, विभव कुमार, दुर्गेश पाठक और दिलीप पांडे ने पार्टी को अपने कब्जे में ले लिया है। उन्होंने 'आप' के पूर्व नेताओं और स्वराज इंडिया पार्टी के संस्थापकों प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव से माफी भी मांगी।

और कहा कि पार्टी को चाहिए कि था कि उनके विचारों का सम्मान करती। मिश्रा ने कहा, 'मैं प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव सहित सभी से माफी मांगता हूं क्योंकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ खड़े होकर शायद मैंने उनके साथ अन्याय किया।'

केजरीवाल से मुक्ति दिलाने मिस्ड कॉल

मिश्रा के अनुसार, 'हमने 'इंडिया अगेंस्ट करप्शन' अभियान शुरू किया, इस पार्टी को बनाया। यह पार्टी को छोड़ने का समय नहीं है, बल्कि वापस इसे अपने नियंत्रण में लेने का समय है।

भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए 7863037300 पर मुझे मिस्ड कॉल दीजिए।' उन्होंने कहा कि जो भी 'भ्रष्टाचार मुक्त दिल्ली' और 'केजरीवाल मुक्त दिल्ली' चाहता है, वह इस अभियान से जुड़ सकता है।

Next Story
Top