Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कपिल का केजरीवाल पर एक और बड़ा आरोप

आप से निलंबित विधायक कपिल मिश्रा ने आप पर एक और हमला बोला है उन्होंने दो करोड़ रूपये के चंदे को लेकर पार्टी पर सवाल उठाया है।

कपिल का केजरीवाल पर एक और बड़ा आरोप
X

आप से निलंबित विधायक कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी पर एक और हमला बोला है उन्होंने दो करोड़ रूपये के चंदे को लेकर आप पार्टी पर सवाल उठाया है। कपिल ने फिर दावा किया है कि शुक्रवार को वह केजरीवाल के इस सबसे बड़े झूठ का पर्दाफाश करेंगे।

कपिल मिश्रा ने इस चंदे को लेकर पार्टी नेतृत्व पर बड़ा सवाल उठाया है। आम आदमी पर्टी को चंदा देने वेले वाले मुकेश शर्मा कारोबारी के सामने आते ही ये मामला पेचीदा हो गया। लेकिन आम आदमी पार्टी इसे अपनी जीत बता रही है।

आप को बाता दे कि बृहस्पतिवार को आम आदमी पार्टी ने निजी टीवी चैनल द्वारा कारोबारी मुकेश शर्मा के इंटरव्यू का एक वीडियो वायरल किया गया है। जिसमें मुकेश शर्मा ने दावा किया है कि आम आदमी पार्टी को दो करोड़ रुपये चंदा देने के मामले में जिन चार कंपनियों के नाम आ रहे हैं। उन्हें फर्जी कंपनी करार दिया जा रहा है।

उत्तरी पूर्वी दिल्ली के गंगा विहार में रहने वाले मुकेश शर्मा ने एक निजी टीवी चैनल से बातचीत में कहा है कि उसने आम आदमी पार्टी को वर्ष 2014 में 2 करोड़ रुपये का चंदा दिया था। मुकेश ने बताया कि वह अरविंद केजरीवाल को नहीं जानता को मिला है।

उन्होंने बताया कि चंदा देते समय केवल आदमी पार्टी के सचिव पंकज गुप्ता से मिला था। उनका कहना है कि चंदा इसलिए दिया क्योंकि उन्हें लगता था कि ये राजनीति में कुछ अच्छा काम करेंगे। उन्होंने ये भी कहा कि दिल्ली का अच्छे से करेंगे।

कपिल मिश्रा ने एक निजी चैनल को कारोबारी मुकेश शर्मा द्वारा दिए गए इंटरव्यू की वीडियो को ट्वीटर पर पोस्ट करते हुए कहा है कि आज अरविंद केजरीवाल ने वीडियो वायरल किया है। कपिल मिश्रा ने इस वीडियो के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद किया है।

कपिल ने फिर दावा किया है कि शुक्रवार को वह केजरीवाल के इस सबसे बड़े झूठ का पर्दाफाश करेंगे। कपिल मिश्रा ने यह भी कहा कि अरविंद केजरीवाल सेवानिवृत्त आइआरएस (इंडियन रिवेन्यू सर्विस) अधिकारी रह चुके हैं। कानून जानते हैं। कल जवाब देंगे।

बता दें कि आम आदमी पार्टी पर चार फर्जी कंपनियों स्काई लाइन मेटल एंड एलॉय प्राइवेट लिमिटेड, सनविजन एजेंसी प्राइवेट लिमिटेड, इंफोलेंस सॉफ्टवेयर सॉल्यूशस लिमिटेड और गोल्डमाइन एंड बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी के जरिये 50-50 लाख रुपये के चेक चंदे के तौर पर देने का आरोप लगा है। ये चंदे अप्रैल 2014 में डिमाड ड्राफ्ट से दिए गए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story