Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुरक्षा कानून की मांग को लेकर पत्रकारों ने किया प्रदर्शन, प्रधानमंत्री को सौंपा ज्ञापन

इस प्रदर्शन में उत्तर प्रदेश, हरियाणा समेत कई राज्यों के पत्रकार शामिल हुए थे।

सुरक्षा कानून की मांग को लेकर पत्रकारों ने किया प्रदर्शन, प्रधानमंत्री को सौंपा ज्ञापन
नई दिल्ली. पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग को लेकर नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्ट (एनयूजे) के नेतृत्व में देशभर के हजारों पत्रकारों ने सोमवार को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया।

देश भर में बढ़ रहे जानलेवा हमलों के विरोध में संसद भवन की तरफ बढ़ रहे मीडियाकर्मियों को रोकने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। पत्रकारों ने जोरदार नारेबाजी करते हुए मीडिया काउंसिल और मीडिया आयोग के गठन की मांग की और इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर एनयूजे के अध्यक्ष रासबिहारी ने कहा कि आज पत्रकार जानलेवा हमलों, उत्पीड़न और शोषण से पीड़ित हैं।

इस साल देश में आठ पत्रकारों को सच लिखने की कीमत अपनी जान देकर गंवानी पड़ी हैं, 200 से ज्यादा पत्रकारों पर हमला किया गया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को बचाने के लिए यह जरूरी है कि केंद्र सरकार पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने का फैसला अविलंब ले। एनयूजे राष्ट्रीय महासचिव रतन दीक्षित ने कहा कि आज पत्रकार तमाम कठिनाइयों से जूझ रहा है। पत्रकार बिरादरी आज केंद्र सरकार से न्याय की उम्मीद किए बैठी है। दुखद पहलू यह है कि राज्यों से लेकर केंद्र सरकार तक उनकी समस्याओं के समाधान के लिए कोई कदम नहीं उठाया जा रहा।

दिल्ली जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल पांडे और महासचिव आनंद राणा ने कहा कि पत्रकारों का शोषण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आज के प्रदर्शन से यह साबित हो गया है कि अन्याय के खिलाफ पत्रकार बिरादरी पूरी तरह एकजुट है। प्रदर्शन में उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, झारखंड, उड़ीसा, प. बंगाल, बिहार और आंध्र प्रदेश सहित कई राज्यों से आए पत्रकारों ने अपनी आवाज बुलंद की।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top