Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फॉरेंसिक जांच में असली निकले जेएनयू के वीडियो

जेएनयूएसयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार एवं दो अन्य पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था।

फॉरेंसिक जांच में असली निकले जेएनयू के वीडियो

नई दिल्ली. पुलिस ने शनिवार को दावा किया कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के नौ फरवरी के विवादास्पद कार्यक्रम का मूल वीडियो फुटेज सीबीआइ की फॉरेंसिक प्रयोगशाला की जांच में असली पाया गया है। इस कार्यक्रम के सिलसिले में जेएनयूएसयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार एवं दो अन्य पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था।

पुलिस ने बताया कि एक हिंदी खबरिया चैनल को मिले इस कार्यक्रम का मूल वीडियो को कैमरा, मेमोरी कार्ड, क्लीप वाली सीडी, वायर एवं अन्य उपकरण के साथ यहां सीबीआइ प्रयोगशाला को परीक्षण के लिए भेजा गया था।
एक पुलिस सूत्र ने कहा कि सीबीआइ प्रयोगशाला ने आठ जून को दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा को एक रिपोर्ट भेजी और बताया कि मूल फुटेज असली था।
वीडियो को लेकर पहले कही गई थी हेराफेरी की बात
- इससे पहले ये खबर आई कि जेएनयू में नारेबाजी से जुड़े सात वीडियो जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें से दो में हेराफेरी पाई गई है। जबकि बाकी पांच ठीक हैं।
- जेएनयू में 9 फरवरी को संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की बरसी पर प्रोग्राम हुआ था। इसमें देश विरोधी नारे लगे थे।
- मामला गरमाया तो केजरीवाल सरकार ने इसकी मजिस्ट्रियल जांच के ऑर्डर दिए थे।
- इस सिलसिले में जेएनयू स्डटूडेंट्स यूनियन के प्रेसिडेंट कन्हैया कुमार को देशद्रोह के आरोप में अरेस्ट किया गया था।
- सीताराम येचुरी ने कहा था यह षडयंत्र है।
- डी राजा ने कहा था कन्हैया पर लगाए सभी आरोप गलत हैं।
क्या है जेएनयू विवाद?
- जेएनयू में 9 फरवरी को लेफ्ट स्टूडेंट्स के ग्रुप्स ने संसद पर हमले के गुनहगार अफजल गुरु और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के को-फाउंडर मकबूल बट की याद में एक प्रोग्राम ऑर्गनाइज किया था। इसे कल्चरल इवेंट बताया गया था।
- जेएनयू में साबरमती हॉस्टल के सामने शाम 5 बजे उसी प्रोग्राम में कुछ लोगों ने देश विरोधी नारेबाजी की। इसके बाद लेफ्ट और एबीवीपी स्टूडेंट्स के बीच झड़प हुई।
- 10 फरवरी को नारेबाजी का वीडियो सामने आया। दिल्ली पुलिस ने 12 फरवरी को देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top