Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जेएनयू प्रशासन ने सौंपी पुलिस को अपनी जांच रिपोर्ट, नारेबाजी बाहरी समूह ने की थी

दो छात्रों को छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया है और विश्वविद्यालय ने दो पूर्व छात्रों के परिसर में आने पर रोक लगा दी है।

जेएनयू प्रशासन ने सौंपी पुलिस को अपनी जांच रिपोर्ट, नारेबाजी बाहरी समूह ने की थी
नई दिल्ली. जेएनयू प्रशासन ने नौ फरवरी के विवादास्पद कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर की गई राष्ट्र-विरोधी नारेबाजी पर पांच सदस्यीय एक पैनल की रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को भेज दी है।
दिल्ली पुलिस की आतंकवाद-रोधी इकाई स्पेशल सेल ने चीफ प्रॉक्टर कार्यालय से उस समिति की रिपोर्ट मांगी थी जो संसद हमले के अभियुक्त अफजल गुरु को फांसी पर लटकाये जाने के खिलाफ परिसर में आयोजित कार्यक्रम के सिलसिले में दर्ज देशद्रोह मामले की जांच कर रही थी। विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि, स्पेशल सेल ने रिपोर्ट की एक कॉपी के लिए हमसे संपर्क किया और हमें उन्हें यह भेज दी है।
नारेबाजी बाहरी समूह ने की
जांच समिति ने बताया था कि समारोह में उकसावे वाली नारेबाजी एक बाहरी समूह ने की थी। हालांकि, यह 'दुर्भाग्यपूर्ण' था जिसे छात्रों ने होने दिया। समिति ने विश्वविद्यालय सुरक्षा इकाई में भी खामियों का उल्लेख किया था। समिति ने कहा था कि नारेबाजी करने वाले बाहरी छात्रों को रोकने और उन्हें परिसर छोड़ने से रोकने के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया था।
14 पर आर्थिक दंड
14 छात्रों पर आर्थिक दंड लगाया गया है। दो छात्रों को छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया है और विश्वविद्यालय ने दो पूर्व छात्रों के परिसर में आने पर रोक लगा दी है।
सजा की घोषणा
जेएनयूएसयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को फरवरी में देशद्रोह मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था जिसका व्यापक विरोध हुआ था। वे अब जमानत पर हैं। जांच समिति की सिफारिशों के आधार पर जेएनयू प्रशासन ने इस सप्ताह इस कार्यक्रम के सिलसिले में कई छात्रों के खिलाफ सजा की घोषणा की है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top