Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मशहूर जिगिशा घोष मर्डर केस में 2 को फांसी, एक को उम्रकैद

कोर्ट ने रवि पर 20 हजार, अमित पर एक लाख और बलजीत पर तीन लाख का जुर्माना भी लगाया है।

मशहूर जिगिशा घोष मर्डर केस में 2 को फांसी, एक को उम्रकैद
X
नई दिल्ली. आइटी प्रोफेशनल जिगिशा घोष मर्डर केस में फैसला आ चुका है। दिल्ली के चर्चित जिगिशा घोष मर्डर केस में कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए 2 दोषियों को फांसी और एक को उम्र कैद की सजा सुनाई हैं।
रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली की साकेत कोर्ट ने आइटी प्रोफेशनल जिगिशा घोष हत्याकांड में दो दोषियों रवि कपूर और अमित शुक्ला को मौत की सजा सुनाई है तो वहीं तीसरे दोषी बलजीत मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने रवि पर 20 हजार, अमित पर एक लाख और बलजीत पर तीन लाख का जुर्माना भी लगाया है। बता दें कि कोर्ट ने पिछले महीने ही तीनों आरोपियों को दोषी ठहरा दिया था जिसका फैसला अब आया है।
गौरतलब है कि न्यायाधीश संदीप यादव ने रवि कपूर, अमित शुक्ला और बलजीत मलिक को आइपीसी की धारा 201 (सबूत नष्ट करने), धारा 364 (हत्या करने के लिए अपहरण), धारा 394 (लूट के दौरान चोट पहुंचाना), धारा 468 (फर्जीवाड़ा), धारा 471 (फर्जी दस्तावेज का वास्तविक इस्तेमाल), धारा 482 (झूठी संपत्ति को व्यवहार में लाना) और धारा 34 के तहत दोषी ठहराया था।
सुनवाई के दौरान जज ने कहा कि, "आरोपियों ने जिगिशा की हत्या की और शव को झाड़ियों में फेंक दिया। सबूतों और साक्ष्यों से यह स्पष्ट हो गया था कि इन लोगों ने ही घटना को अंजाम दिया था। रिकॉर्ड में यह साबित हो गया कि घटना के दिन जिगिशा समय पर घर नहीं पहुंची थी और तीनों दोषियों ने जिगिशा का अपहरण कर लिया था। अपराधियों ने उसकी सोने की चेन, दो मोबाइल फोन, दो अंगूठियां और डेबिट तथा क्रेडिट कार्ड लूटे फिर बाद में उसकी हत्या करके शव झाड़ियों में फेंक दिया था।
इस मामले के खुलने के साथ ही एक समाचार चैनल में पत्रकार सौम्या विश्वनाथन के मर्डर का केस भी सुलझ गया है। 30 सितंबर 2008 में सौम्या की उस समय हत्या कर दी गई थी जब वह अपनी कार से घर लौट रही थी। पुलिस ने दावा किया है कि जिगिशा और सौम्या दोनों की ह्त्या लूटपाट के लिए की गई थी।
ज्ञात हो कि सात साल पहले मार्च 2009 में जिगिशा की ह्त्या कर दी गई थी। दो दिन बाद जिगिशा की लाश हरियाणा के सूरजकुंड के पास मिली थी। कोर्ट ने इस मामले में तीन आरोपियों अमित शुक्ला, बलजीत और रवि कपूर को किडनैप, मर्डर, आपराधिक साजिश रचाने, लूट और हथियारों के इस्तेमाल के मामले में दोषी पाया है। बता दें कि आरोपियों ने जिगिशा की हत्या के साथ ही सौम्या की भी ह्त्या की बात कबूल की है। जिगिशा घोष (28) नोएडा के एक कॉल सेंटर में काम करती थी। घटना के दिन वह ऑफिस गई थी लेकिन वापस घर लौटकर नहीं आई थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें
ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story