Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली: गर्मी से अभी नहीं मिलेगी राहत, 44 के पार पहुंच सकता है तापमान

लगातार तीन सालों से जून के पहले हफ्ते में तापमान बढ़ रहा है।

दिल्ली: गर्मी से अभी नहीं मिलेगी राहत, 44 के पार पहुंच सकता है तापमान
नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में गर्मी की मार झेल रहे लोगों को अभी नहीं मिलेगी राहत। रविवार को दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत के कई इलाकों पारा 44 डिग्री तक पहुंच गया। दोपहर ढलने के बाद भी गर्म हवाओं और लू के थपेड़ों का प्रकोप जारी रहा। आमतौर पर पारा शाम के समय गिरने लगता है, लेकिन रविवार शाम ऐसा नहीं हुआ। तापमान में जो उछाल दोपहर 12 बजे देखी गई थी वो यहां शाम तक भी बरकरार रही। इससे पहले शनिवार को पारा 43.2 डिग्री सेल्सियस था।
जून में पड़ सकती है जानलेवा गर्मी
मई के आखिरी सप्ताह में उत्तर भारत के अलग-अलग इलाकों में मौसम ने करवट ली थी। लेकिन इस बदलते मौसम ने लोगों को ज्याद देर तक सुकून से नहीं रहने दिया। वहीं मौसम विभाग की मानें तो ये लगातार तीसरा साल है जबकि जून के पहले हफ्ते में तापमान का ये हाल है। लगातार तीन सालों से जून के पहले हफ्ते में तापमान बढ़ रहा है। वहीं बीते सालों में ये जून महीने का अधिकतम तापमान भी रिकॉर्ड किया गया है। चार सालों में तापमान 43 डिग्री के पार भी नहीं पहुंचा है, जबकि इस बार गर्मी कम होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैँ।
इन जगहों पर सबसे बुरा हाल
रविवार को प्रदेश में सबसे अधिक तापमान धार में रिकॉर्ड किया गया। यहां पारा 45.9 डिग्री तक जा पहुंचा। वहीं ग्वालियर में 44.9, भोपाल में 44, इंदौर में 44, सतना में 43 और जबलपुर में 41.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। दो दिन पहले ही ग्वालियर का तापमान 46 डिग्री जा पहुंचा था, जबकि नौतपा में इस क्षेत्र में हुई बारिश ने गर्मी के असर को थोड़ा कम किया था।
गर्मी में उमस ने भी छुड़ाए पसीने
आमतौर पर जून की शुरूआत के आसपास होने वाली बारिश से मौसम में नमी आने लगती है, जो कि गर्मी के असर को थोड़ा कम कर देती है। लेकिन ये लगातार तीसरा साल है जबकि जून में औसत नमी में गिरावट दर्ज की गई है। इस साल भी नमी की कमी के चलते मौसम गर्म बना हुआ है। मौसम विज्ञानिकों की मानें तो अभी हल्की फुल्की बारिश होने की संभावना है, लेकिन इससे भी गर्मी कम नहीं होगी, बल्कि उमस बढ़ सकती है।
2 से 3 हफ्तों में आ सकता है मानसून
केरल में मॉनसून 8 से 10 जून के बीच दस्तक देगा। इसके बाद प्रदेश और राजधानी तक पहुंचने में इस लगभग 10 दिन का समय लग सकता है। यानि 18 जून के बाद ही प्रदेश बारिश की फुहारों से भीग सकेगा। हालांकि इस समय तक पहुंचने में अभी भी दो हफ्ते हैं। यानि लगभग 15 दिन राजधानीवासियों को गर्मी की मार और झेलनी पड़ सकती है। हालांकि इस बीच यदि बारिश होती भी है तो वो कुछ खास राहत देने वाली साबित नहीं होगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top