Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विलेज कॉटेज होम में घिनौना अपराध, 10 वर्ष तक की बच्चियों के साथ सुप्रीटेंडेंट ने की छेड़छाड़

सुपरिटेंडेंट ने वेलफेयर अफसर राखी पर आरोप लगाया कि उसने कहा था कि तुम लड़कियों के साथ रुको और मैं लड़कों के साथ रुकती हूं।

विलेज कॉटेज होम में घिनौना अपराध, 10 वर्ष तक की बच्चियों के साथ सुप्रीटेंडेंट ने की छेड़छाड़

नई दिल्ली. लाजपत नगर स्थित विलेज कॉटेज होम में रहने वाली बच्चियों के साथ छेड़छाड़ करने पर सरकार ने दो अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया है। साथ ही दोनों अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवा दी है।

इस संबंध में महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी ने बताया कि महिला एवं बाल विकास मंत्री संदीप कुमार को शिकायत मिली कि विलेज कॉटेज होम में रहने वाली 10 वर्ष तक की बच्चियों के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं हो रही है। मंत्री ने शिकयत पर संज्ञान लेते हुए होम का दौरा किया।

यहां बच्चियों से बातचीत के बाद पता चला कि होम में रह ही कुछ बच्चियों के साथ सुप्रीटेंडेंट ने छेड़छाड़ की है। इस मामले को लेकर हंगामा भी हुआ। बच्चियों का आरोप था कि सुप्रीटेंडेंट राम सहाय मीणा बच्चियों को एक कमरे में ले गया और दरवाजा बंद कर बच्चियों के साथ शारीरिक छेड़छाड़ की है।
इसके बाद मंत्री ने विलेज कॉटेज होम के सुपरिटेंडेंट से बात की उसने वहां कि वेलफेयर अफसर राखी पर आरोप लगाया कि उसने उससे कहा था कि तुम लड़कियों के साथ रुको और मैं लड़कों के साथ रुक जाती हूं। इस पर मंत्री ने वेलफेयर अफसर से बात की तो उसने बात को गोलमोल करने की कोशिश की।
मंत्री ने तुरंत कार्रवाई करते हुए विलेज कॉटेज होम के सुपरिटेंडेंट राम सहाय मीणा और वेलफेयर अफसर राखी को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया और साथ ही मौके पर मौजूद विभाग के अधिकारियों को सुपरिटेंडेंट राम सहाय मीणा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए आदेश दिए हैं।
विभाग के अधिकारियों के निर्देशित किया है कि अगर जांच के दौरान वेलफेयर अधिकारी राखी भी दोषी पाई जाती है तो उसके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई जाए। उन्होंने चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के सदस्यों को निर्देश दिया कि यदि मामला गंभीर है तो चाइल्ड वेलफेयर कमेटी पोस्को एक्ट के तहत सुपरिटेंडेंट के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की तैयारी करें।
रिश्वत लेने के आरोप में एसडीएम गिरफ्तार
सीबीआई ने पचास हजार रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में दिल्ली सरकार के उप मंडल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) और तीन अन्य को गिरफ्तार किया है। सीबीआई सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि सरस्वती विहार के एसडीएम राहुल अग्रवाल को बृहस्पतिवार देर रात तीन अन्य के साथ गिरफ्तार किया गया।
अग्रवाल दिल्ली, अंडमान-निकोबार द्वीप सिविल सेवा (दानिक्स) के 2012 बैच के अधिकारी हैं। उन्होंने बताया कि अग्रवाल की गिरफ्तारी के बाद उनके घर पर छापेमारी के दौरान सीबीआई को बड़ी मात्रा में नकद राशि मिली।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top