Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गुर्जरों को जाटों का आरक्षण नहीं मंजूर, हार्दिक को करना पड़ा विरोध का सामना

जाटों का समर्थन किया तो गुर्जर नहीं हैं हार्दिक के साथः राजेंद्र मावी

गुर्जरों को जाटों का आरक्षण नहीं मंजूर, हार्दिक को करना पड़ा विरोध का सामना
नई दिल्ली. पटेलों की आरक्षण की मांग को दिल्ली लेकर पहुंचे हार्दिक पटेल को गुर्जरों के विरोध का सामना करना पड़ा है। गौरतलब है कि हार्दिक ने इससे पहले कहा था कि कुर्मी और गुर्जर जैसी जातियों उनके इस आंदोलन के साथ हैं।
आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को उनके लिए आयोजित सम्मान समारोह में गुर्जरों के एक तबके के विरोध का सामना करना पड़ा। हार्दिक ने जैसे ही उपस्थित लोगों के समक्ष अपना संबोधन शुरू किया, एक गुर्जर नेता राजेंद्र मावी ने बाधा डाली और हार्दिक पर आरोप लगाया कि वह जाट आरक्षण को अपना समर्थन विस्तारित कर रहे हैं।
मावी ने खुद को अखिल भारतीय गुर्जर महासंघ का अध्यक्ष बताया। कुछ समय की धक्कामुक्की के बाद आयोजन स्थल से बाहर निकाले गए मावी ने बाद में कहा कि हम उनके हार्दिक खिलाफ हैं, जब वह जाट आरक्षण की मांग का भी समर्थन कर रहे हैं तो हम उनका समर्थन कैसे कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि गुर्जरों सहित ओबीसी समुदायों की विभिन्न याचिकाओं पर अदालतों द्वारा जाट आरक्षण को खारिज कर दिए जाने के बावजूद हार्दिक जाट आरक्षण का समर्थन कर रहे हैं।
मावी ने आगे कहा कि पटेलों के राजनीतिक दबदबे के मद्देनजर उन्हें गुजरात सरकार और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से अपनी मांगों पर बात करनी चाहिए। उन्होंने दावा किया कि हार्दिक के पीछे कोई ताकत है और उन्होंने गुर्जरों से इसलिए संपर्क किया क्योंकि वह जानते हैं कि गुर्जर एक दिलेर समुदाय है और उसके समर्थन से उन्हें पटेल आरक्षण की मांग को लेकर सरकार पर दबाव बनाने में मदद मिलेगी।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से संबधिंत अन्य खबरें-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top