Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आवारा कुत्तों के कंधों पर होगी दिल्ली की सुरक्षा

आवारा कुत्तों के समाधान के लिए सरकार ने तरीका ढूढ़ लिया है

आवारा कुत्तों के कंधों पर होगी दिल्ली की सुरक्षा
नई दिल्ली. लोगों को गलियों में आवारा कुत्तों की भरमार होने से समस्या झेलनी पड़ती है। कुछ लोग शौक होने के चलते और सुरक्षा के लिए भी कुत्ते पालते हैं।
आवारा कुत्तों के समाधान के लिए सरकार ने तरीका ढूढ़ लिया है। पर्यावरण मंत्रालय ने इसके लिए एक प्रारूप जारी किया है, जिस पर आम लोगों से सुझाव मांगे गए हैं। प्रारूप के मुताबिक सभी डॉग ब्रीडर्स को स्थानीय राज्य पशु कल्याण बोर्ड में रजिस्ट्रेशन कराना होगा और उन्हें ब्रीडिंग के लिए तय मानदंडों का पालन भी करना होगा।
केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे ने यहां मंगलवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वे कुत्तों को सुरक्षा के लिए इस्तेमाल करने के पक्ष में हैं। इससे न सिर्फ घरों, मोहल्लों में सुरक्षा हो सकेगी बल्कि आतंकवाद से निपटने में भी मदद मिल सकती है। दवे ने कहा कि कुत्ते पालतू हों या फिर आवारा, एक सुझाव यह है कि इन्हें दो-चार महीने का प्रशिक्षण देकर सुरक्षा का माध्यम बनाया जाए।
वे घर या मोहल्ले की सुरक्षा के लिए अहम साबित हो सकते हैं। सिर्फ सुरक्षा एजेंसियों के प्रशिक्षत कुत्तों के भरोसे हर जगह नहीं बैठा जा सकता है। ट्रेनिंग कैसे हो, इसके लिए भी सुझाव यह है कि एक डॉग यूनिवर्सिटी बनाई जाए। दवे के अनुसार आवारा कुत्तों को वाचडॉग बनाया जाएगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top