Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डेंगू डंक : महंगा हुआ बकरी का दूध, 40 रु. लीटर से 2000 रु.ली. तक पहुंची कीमत

पारंपरिक चिकित्सा पदत्ति में डेंगू के इलाज के लिए बकरी का दूध इस्तेमाल किया जाता रहा है।

डेंगू डंक : महंगा हुआ बकरी का दूध, 40 रु. लीटर से 2000 रु.ली. तक पहुंची कीमत
नई दिल्ली. दुनिया भर में डेंगू के डंग से हर कोई जूझ रहा है चाहे देश की राजधानी दिल्ली हो या एनसीआर, हर जगह डेंगू का कहर जारी है। अस्पतालों में व्यवस्था का अभाव होने के कारण और वक्त पर इलाज न मिल पाने से इस बीमारी से हो रही मौतों की संख्या भी बढ़ी रही हैं। ऐसे में लोग इस घातक बीमारी से बचने के लिए हर तरीका आजमाने के लिए तैयार हैं।
दरअसल डेंगू जैसी बीमारी से जल्द निपटने के लिए बकरी के दूध को ज्यादा तवज्जो दी जाती है। ऐसे में बकरी के दूध के दाम भी आसमान पर पहुंच गए हैं। राजधानी दिल्ली में बकरी का दूध 2 हजार रुपए लीटर तक मिल रहा है। आम दिनों में बकरी का दूध 35 से 40 रुपए प्रति लीटर पर मिल जाता है।
आपको बता दें कि पारंपरिक चिकित्सा पदत्ति में डेंगू के इलाज के लिए बकरी का दूध इस्तेमाल किया जाता रहा है। डेंगू से पीड़ित मरीज के ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से घटने लगती है। ऐसा माना जाता है कि पपीते की पत्तियां और बकरी का दूध ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने में कारगर होता है। हालांकि, अभी तक इस धारणा को किसी तरह की वैज्ञानिक प्रमाणिकता नहीं मिली है।
इनसे बढ़ती है ब्लड प्लेटलैट्स
जानकारों के मुताबिक आयुर्वेद की किताबों में यह बताया गया है कि बकरी का दूध डेंगू के बुखार से निकलने में काफी कारगर साबित होता है। एलोपैथी के उपचारो के अलावा डेंगू की बीमारी से बचने के लिए लोग घरेलू उपचार सहारा ले रहे है। डेंगू से लडऩे के लिए बकरी का दूध और पपीते की पत्तियां का इस्तेमाल कर रहे हैं। जिसके चलते की इनकी मांग बढ़ गई है।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर -
Next Story
Top