Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

3 साल की बच्ची का नहीं चला पता, नाले में बह गई

दिल्ली के श्रीनिवासपुरी कॉलोनी के पास बच्ची एमसीडी के नाले के पास खेल रही थी।

3 साल की बच्ची का नहीं चला पता, नाले में बह गई
नई दिल्ली. साउथ-ईस्ट जिले के श्रीनिवासपुरी इलाके के नाले में एक तीन साल की बच्ची के डूबने का मामला सामने आया है। नाला एमसीडी का बताया जाता है। बृहस्पतिवार देर शाम तक चले राहत एवं बचाव कार्य के बाद भी बच्ची का कुछ पता नहीं चल पाया है। बच्ची का नाम किरण बताया जाता है। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने एमसीडी पर लापरवाही का आरोप लगाया है। पुलिस के अनुसार, गांधी कैंप की रहने वाली किरण बृहस्पतिवार दोपहर श्रीनिवासपुरी कॉलोनी के पास एमसीडी के नाले के पास खेल रही थी।
उसके साथ मोहल्ले के कुछ और बच्चे भी थे। इस नाले पर बीच-बीच में स्लैब टूटा हुआ है। खेलते-खेलते बच्ची नाले में गिर गई। बच्चों ने उसके परिजनों को इसकी सूचना दी। परिजनों की सुचना पर फायरकर्मी, नगर निगम, कैट्स एंबुलेंस, क्यूआरटी, छह गोताखोरों की टीमें मौके पर पहुंची और बच्ची को तलाशना शुरू किया। एमसीडी कर्मचारियों ने जेसीबी मशीन से नाले का स्लैब भी हटाया लेकिन बच्ची का कुछ पता नहीं चल सका।
इकलौती संतान थी
बच्ची की मां सोनापति की शादी चार साल पहले राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में सेकराम से हुई थी। सेकराम भीलवाड़ा में ही एक फैक्ट्री में काम करता है। सोनापति भैया दूज पर किरण के साथ मायके आई थी। किरण उसकी इकलौती संतान थी। हादसे के बाद बच्ची की मां और नानी जस्सो का रो-रोकर बुरा हाल था। बच्ची की मां का कहना है कि वह खाना खाने के बाद सुबह करीब साढ़े 11 बजे घर से खेलने के लिए निकली थी। नाला उनके घर के सामने ही बहता है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top